महाविद्यालय में व्याख्याताओं की कमी , विद्यार्थियों ने मुख्य गेट पर जड़ा ताला । देखे वीडियो...

कस्बे में स्थित राजकीय महाविद्यालय में व्याख्याताओं की कमी के चलते शिक्षण कार्य प्रभावित होने से नाराज छात्रों ने सोमवार को महाविद्यालय के मुख्य दरवाजे पर ताला लगाकर प्रदर्शन किया।

By: Narendra Agarwal

Updated: 11 Oct 2021, 06:38 PM IST

हिण्डोली. कस्बे में स्थित राजकीय महाविद्यालय में व्याख्याताओं की कमी के चलते शिक्षण कार्य प्रभावित होने से नाराज छात्रों ने सोमवार को महाविद्यालय के मुख्य दरवाजे पर ताला लगाकर प्रदर्शन किया।
सुबह 11 बजे महाविद्यालय के दर्जनों छात्र-छात्राएं नारेबाजी के साथ मुख्य गेट पर पहुंचे एवं गेट पर ताला लगाकर कॉलेज प्रशासन व राज्य सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। छात्रों ने बताया कि यहां पर कुल पांच विषय संचालित है लेकिन दो विषय के व्याख्याता होने के कारण तीन विषय नहीं पढ़ाए जा रहे हैं। ऐसे में यहां की पढ़ाई व्यवस्था चौपट हो रही हैं ।छात्र दूरदराज के गांवों से महाविद्यालय पहुंचते हैं लेकिन पढ़ाई नहीं होने से वापस निराश लौटना पड़ता है।
छात्र मुख्य दरवाजे पर प्रदर्शन के बाद सभी जुलूस के रूप में उपखंड अधिकारी कार्यालय पहुंचे जहां पर भी काफी देर तक प्रदर्शन किया बाद में उपखंड अधिकारी के प्रतिनिधि को उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी के नाम ज्ञापन सौंपकर यहां पर व्याख्याताओं के रिक्त पद भरने की मांग की ।छात्रों ने बताया कि रिक्त पद नहीं भरे तो वे आंदोलन करेंगे। ज्ञापन देने वालों में खुशीराम, जगदीश मेवाड़ा ,राजेश ,फूल सिंह, सरिता सोलंकी , रेणु कंवर निरमा गुर्जर, मनीषा कुमारी सहित बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं मौजूद रहे।
महाविद्यालय में कुल पांच विषय सचालित है ।यहां का नोडल महाविद्यालय बूंदी लगता है यहां पर गत दिनों तीन व्याख्याता भेजे थे। उनमें से एक को वापसस बुला लिया ।वहां पर मात्र दो ही व्याख्याता है ।ऐसे में शिक्षण कार्य प्रभावित होने से छात्रों ने सोमवार को महाविद्यालय के गेट पर ताला लगा दिया था एवं व्याख्याता लगाने की मांग कर रहे थे।
रमेश मीणा, कार्यवाहक प्रधानाचार्य , राजकीय महाविद्यालय हिण्डोली।

Narendra Agarwal Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned