कांफ्रेंसिंग कॉल से बताई आदर्श पंचायतें बनाने की जानकारियां

कोरोना महामारी के चलते एक दूसरे से संपर्क, बैठक, प्रशिक्षण एवं एकत्र होकर बातचीत करना मुश्किल सा हो गया है। इस विषम परिस्थितियों के बीच ग्राम पंचायतों को आदर्श ग्राम पंचायत बनाने के

By: Narendra Agarwal

Updated: 16 May 2020, 09:51 AM IST

सरपंच व ग्राम विकास अधिकारी शामिल रहे
नैनवां. कोरोना महामारी के चलते एक दूसरे से संपर्क, बैठक, प्रशिक्षण एवं एकत्र होकर बातचीत करना मुश्किल सा हो गया है। इस विषम परिस्थितियों के बीच ग्राम पंचायतों को आदर्श ग्राम पंचायत बनाने के लिए पिपलांत्री आदर्श ग्राम पंचायत मॉडल की कांफ्रेंसिंग कॉल के माध्यम से विभिन्न जानकारियां दी गई। इसका आयोजन पंचायत समिति नैनवां व रिलायंस फाउण्डेशन के संयुक्त तत्वावधान में किया। इसमें पंचायत समिति के 33 ग्राम पंचायतों के सरपंच व ग्राम विकास अधिकारी जुड़े। जिनको कॉल के माध्यम से पिपलांत्री (राजसमंद) आदर्श ग्राम पंचायत की विकास यात्रा के अनुभवों को बताया। पिपलांत्री के पूर्व सरपंच एवं विकास यात्रा के सूत्रधार श्यामसुन्दर पालीवाल ने अपनी ग्राम पंचायत की विकास यात्रा के 16 वर्षो के अनुभवों को साझा किया।

विकास अधिकारी जतनसिंह गुर्जर ने ग्राम पंचायत में नरेगा कार्यों में सामाजिक दूरी का पालन करते हुए श्रमिकों को कार्य देने, साथ ही बाहर से आने वाले परिवारों को रोजगार उपलब्ध करवाने में सहयोग करें। रिलायंस फाउण्डेशन के राज्य प्रभारी नितिन शर्मा ने वर्तमान परिस्थिति में जल ग्रहण संबंधित मिट्टी के कार्य अधिक करवाने के लिए प्रेरित किया। सत्र में पंचायत प्रसार अधिकारी बाबू खान ने पंचायतों के चहुंमुखी विकास पर जोर दिया। सत्र में 115 पंचायत प्रतिनिधि शामिल रहे।

Narendra Agarwal Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned