रोडवेज परिचालिका निलंबित, आश्वासन के बाद किया अंतिम संस्कार

कस्बे के समीप कालीघाट के पास रोडवेज की बस से उतारे खलून्दा गांव निवासी 26 वर्षीय रामशंकर प्रजापति की मौत के मामले में रोडवेज परिचालिका अनिता मेघवाल को निलंबित कर दिया है।

By: Narendra Agarwal

Published: 22 Nov 2020, 12:49 PM IST

सुवासा. कस्बे के समीप कालीघाट के पास रोडवेज की बस से उतारे खलून्दा गांव निवासी 26 वर्षीय रामशंकर प्रजापति की मौत के मामले में रोडवेज परिचालिका अनिता मेघवाल को निलंबित कर दिया है। वहीं मृतक के एक परिजन को सरकारी नौकरी व आर्थिक सहायता देने का आश्वासन देने के बाद अंतिम संस्कार किया गया।
जानकारी के अनुसार शुक्रवार 4 बजे के आस पास हुई मौत के बाद से ही प्रजापति समाज के लोगों व ग्रामीणों ने प्रशासन से आर्थिक सहायता व परिवार के सदस्य को रोडवेज में नौकरी देने की मांग को लेकर जाम लगा दिया था।
रात को प्रदर्शन कर रहे मृतक के परिजन जगदीश प्रजापति को पुलिस ले गई थी। जिसे करीब 1 घण्टे के बाद छोड़ दिया। सुबह प्रशासन ने परिजनों से शव को लेने की बात कही, लेकिन समाज के प्रतिनिधियों व परिजनों ने परिचालिका को निलंबित करने व परिजनों को 10 लाख रुपए देने व रोडवेेज में एक व्यक्ति को नौकरी देने का लिखित में आश्वासन देने की मांग रखी। दोपहर को तालेड़ा उपखण्ड अधिकारी कमल मीणा ने खलूंन्दा पहुंचकर मृतक के परिजन व प्रजापति समाज के जनप्रतिनिधियों को परिचालिका का निलंबन आदेश दिखाकर व सरकार के पास भेजे आर्थिक सहायता के प्रति की कॉपी देने के बाद मृतक का अन्तिम संस्कार किया। मृतक के घर पर राष्ट्रीय कुम्हार महासभा दिल्ली के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष बाबूलाल रेनवाल, संरक्षण कृष्ण मुरारी प्रजापति, संभागीय अध्यक्ष महावीर प्रजापति, संगठन मंत्री सोहनलाल प्रजापति, तालेड़ा पूर्व उपप्रधान नरेन्द्र पुरी, भाजपा नेता अनिल जैन, आदि पहुंचे और ग्रामीणों से समझाइश कर मामला शांत किया। तालेड़ा उपखण्ड अधिकारी कमल मीणा ने बताया कि परिचालिका को निलंबित कर दिया है। परिवार को आर्थिक सहायता के लिए पत्र भेजा है। केशवरायपाटन पुलिस उपअधीक्षक दीपक गर्ग ने बताया कि परिजनों की रिपोर्ट पर परिचालिका के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

Narendra Agarwal Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned