युवक की मौत पर मोर्चरी के बाहर परिजनों का हंगामा

बूंदी शहर की अम्बेडकर कॉलोनी निवासी युवक की कोटा के निजी अस्पताल में शुक्रवार को उपचार के दौरान मौत हो गई।

By: Narendra Agarwal

Updated: 07 Mar 2020, 12:35 PM IST

बूंदी. बूंदी शहर की अम्बेडकर कॉलोनी निवासी युवक की कोटा के निजी अस्पताल में शुक्रवार को उपचार के दौरान मौत हो गई। मृतक को लेकर बूंदी अस्पताल पहुंचे तो परिजनों ने पोस्टमार्टम कराने से मना कर दिया और पुलिस के सुनवाई नहीं करने का आरोप लगाते हुए मोर्चरी के बाहर हंगामा किया।
यहां परिजनों व अन्य लोगों ने भाजयुमो लोकसभा प्रभारी गौरव शर्मा की अगुवाई में करीब तीन घंटे तक मोर्चरी का गेट लगाकर पुलिस के खिलाफ आक्रोश जताया।हंगामा बढ़ता देख मौके पर तहसीलदार भारत सिंह व पुलिस उपउधीक्षक मनोज शर्मा पहुंचे और समझाइश की। करीब पांच घंटे बाद मृतक का पोस्टमार्टम कराया गया। यहां परिजनों ने बताया कि गोलू महावर मजदूरी का कार्य करता था।वह 13 फरवरी को अपने दोस्त के साथ बूंदी से हट्टीपुरा काम पर जा रहा था, तभी यहां चितौड़ रोड पुलिया के नीचे वह घायल हाल में मिला।एम्बुलेंस की सहायता से बूंदी अस्पताल लाया गया। जहां से उसे कोटा रैफर कर दिया।इसके बाद गोलू कोमा में चला गया। कई बार पिता ने हादसे का कारण जानने के लिए सदर थाने के चक्कर लगाए, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई।शुक्रवार को आखिर उसकी मौत हो गई, लेकिन पुलिस ने इसे गंभीरता से नहीं लिया। इसी से आक्रोशित होकर लोगों ने हंगामा कर दिया।
पिता राधेश्याम महावर का आरोप था कि उसकी मौत दुर्घटना से नहीं हुई। पुलिस पूरे मामले की जांच करें।
मुआवजे के लिए कलक्ट्रेट पर किया प्रदर्शन
पीडि़त परिवार को मुआवजा देने की मांग को लेकर लोगों ने बूंदी जिला कलक्ट्रेट में विरोध प्रदर्शन किया।भाजयुमो लोकसभा प्रभारी गौरव शर्मा की अगुवाई में जिला कलक्टर से मिले और मुआवजा की मांग रखी।इस दौरान शिवसेना के उपजिला प्रमुख राजेश खटीक, भाजपा शहर अध्यक्ष महावीर खंगार, हर्षवर्धन भटनागर, अमनप्रीत सिंह, जगदीश महावर, महेंद्र महावर आदि मौजूद थे। यहां जिला कलक्ट्रेट में परिजनों की रुलाई फूट पड़ी।

Show More
Narendra Agarwal Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned