सजधज कर पूजे गोवर्धन, महिलाओं ने दिखा उत्साह

Narendra Agarwal

Publish: Nov, 08 2018 12:24:28 PM (IST)

Bundi, Bundi, Rajasthan, India

बूंदी. दीपोत्सव के तहत गुरुवार को घरों के बाहर गोवर्धन की पूजा अर्चना की गई। सुबह से ही महिलाओं में इसको लेकर काफी उत्साह दिखा गया। सुबह के समय महिलाएं सजी संवरी और घरों के बाहर गोबर से भगवान गोवर्धन बनाकर उसकी पूजन किया। महिलाओं ने एक दूसरे को दीपोत्सव की रामा श्यामा की और बड़े बुजुर्गों का आर्शीवाद लिया। इस मौके पर घरों के बैलों व गायों का भी पूजन किया गया।
केशवरायपाटन. किसानों व पशु पालकों ने गाय पूजन किया। महिलाओं ने गोर्वधन बनाकर पूजा अर्चना की गई। केशव मंदिर पर भगवान के अन्नकूट उत्सव में बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने भाग लिया। पुजारियों ने पूजा-अर्चना कर भगवान को व्यंजनों का भोग लगा कर उत्सव मनाया।

क्यों पूजते है गोवर्धन
इस दिन भगवान इंद्र की पूजा की जाती थी लेकिन श्री कृष्ण ने उनकी पूजा बंद करा कर गोवर्धन पूजा आरंभ की। गोवर्धन आपका व मवेशियों का पेट भरते है, इसलिए इन्द्र के बजाय गोवर्धन की पूजा करना चाहिए। गोवर्धन पूजा पर्व को अन्नकूट पर्व के नाम से भी जाना जाता है। कार्तिक मास की शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा को गोवर्धन उत्सव मनाया जाता है। इस दिन बलि पूजा, अन्न कूट, मार्गपाली आदि उत्सव भी सम्पन्न होते है। अन्नकूट या गोवर्धन पूजा भगवान कृष्ण के अवतार के बाद द्वापर युग से प्रारम्भ हुई।

दीपोत्सव, महिलाएं, बैलों का पूजन, गोवर्धन, अन्न कूट

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned