बूंदी. ‘श्रीराम जानकी बैठे है मेरे सीने में...’, ‘राधे कृष्ण बोलो, जय श्री राम...’ सरीखेभजनों से शहर की प्रमुख बाजार गूंज उठे। मौका था भगवान परशुराम जयंती महोत्सव-2019 के तहत मंगलवार को निकाली गई शोभायात्रा का।
शहर के बालचंदपाड़ा स्थित मंशापूर्ण गणेश मंदिर में सर्वब्राह्मण महासभा समिति की ओर से पूजा-अर्चना के बाद यात्रा शुरू हुई। जिसमें सबसे आगे ध्वज पताका लिए घोड़े पर सवार युवा समाज की एकता का संदेश दे रहा था। हाथ में परसा लिए ऊंट पर बच्चे सवार थे। इसके पीछे परशुराम व वानर सेना अखाड़ा आकर्षण का केंद्र रहा। अखाड़े में लकड़ी, चकरी, मुकदर व तलवार घुमाते युवाओं का उत्साह देखते ही बना। वाहनों पर सवार ब्राह्मण समाज के लोग भगवान परशुराम के जयकारे लगाते हुए चल रहे थे। ढोल की थाप व डीजे पर बज रहे गीतों पर युवा झूम रहे थे। वहीं घोड़े पर सवार युवतियां बेटी बचाओ का संदेश दे रही थी। उनके पीछे भगवान के जयकारे लगाते हुए पारंपरिक पोषाक में बड़ी संख्या में महिलाएं सिर पर कलश लिए हुए थी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned