Covid-19 Medical Staff : कोरोना की जंग में योद्धा बने चिकित्सा कर्मी

कोरोना संक्रमण वैश्विक महामारी में योद्धा बने चिकित्सक अहम भूमिका निभा रहे। इनके लिए घर-परिवार से अधिक मरीजों की सेवा हो गई।

By: Narendra Agarwal

Published: 10 Apr 2020, 04:48 PM IST

बूंदी. कोरोना संक्रमण वैश्विक महामारी में योद्धा बने चिकित्सक अहम भूमिका निभा रहे। इनके लिए घर-परिवार से अधिक मरीजों की सेवा हो गई। ऐसा ही जज्बा दिखाया बूंदी निवासी महेंद्र वर्मा, जो दिल्ली एम्स में नर्सिंग अधिकारी के तौर पर सेवा दे रहे।
एम्स में नर्सिंग अधिकारी की जिम्मेदारी निभा रहे महेंद्र ने बताया कि अस्पतालों में नर्सिंग स्टॉफ की भूमिका बहुत अधिक हो गई।कोरोना संक्रमण के दौर में घर-परिवार छोडकऱ हम अपनी जिम्मेदारी तो निभा रहे, लेकिन लोगों को भी समझना चाहिए और जागरूक रहे, ताकि हम अपने देश व प्रदेश को संक्रमण से पूरी तरह से मुक्त कर सके। उन्होंने कहा कि इस संक्रमण से बचने में सोशल डिस्टेंस एक बेहतर उपाय होगा।बस लोगों को चाहिए कि वह लॉकडाउन का पालन करें, लापरवाही कतई नहीं करें।
कोरोना को हराकर ही घर लौटने का संकल्प
हिण्डोली.हिण्डोली निवासी मोहम्मद इमरान गत 1 माह से जयपुर के आरयूएचएस अस्पताल प्रतापनगर जयपुर की कोविड 19 टीम में सेवा दे रहा है। इमरान पिछले ढाई माह से अपने घर नहीं आया। अब उसने कोरोना से जीतकर ही घर आने का संकल्प लिया। इमरान जयपुर में मेल नर्स ग्रेड सैकण्ड के पद पर कार्यरत है। इमरान ने बताया कि शुरुआत में अस्पताल में संसाधनों व स्टाफ की कमी थी। काम का दबाव बहुत अधिक था, लेकिन अस्पताल के प्राचार्य एवं अस्पताल कर्मियों की दिनरात की मेहनत से काफी सफलता मिली। इमरान ने बताया कि ड्यूटी टाइम के अतिरिक्त भी काम काम करने से पीछे नहीं हट रहे। बच्चों और परिजनों से अभी सिर्फ वीडियो कॉल के जरिए मिलना हो रहा है।

Narendra Agarwal Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned