डाबी विकास मेला ग्रामीणों के लिए बेहतर अवसर

Nagesh Sharma

Publish: Jun, 14 2018 12:03:34 PM (IST)

Bundi, Rajasthan, India
डाबी विकास मेला ग्रामीणों के लिए बेहतर अवसर

शहीद नानक भील की स्मृति में बुधवार को यहां उप तहसील परिसर में एक दिवसीय ‘आदिवासी विकास मेला’ लगा।

डाबी. शहीद नानक भील की स्मृति में बुधवार को यहां उप तहसील परिसर में एक दिवसीय ‘आदिवासी विकास मेला’ लगा।मेले की शुरुआत जिला प्रमुख सोनिया गुर्जर ने की। क्षेत्र की 14 पंचायतों के ग्रामीण मेले में शामिल होने आए।
मेले में जिला प्रमुख गुर्जर ने कहा कि डाबी विकास मेला ग्रामीणों के लिए बेहतर अवसर है। सभी विभागों की मौजूदगी से ग्रामीणों को योजनाओं का लाभ मिला है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण ज्यादा से ज्यादा इसका लाभ उठाएं। उन्होंने कहा कि डाबी आदिवासी विकास मेले के जरिए बरड़ क्षेत्र के लोगों को योजनाओं का लाभ पहुंचाने के लिए और अधिक प्रयास किए जाएंगे।
उपजिला प्रमुख सत्येन्द्र मीणा ने कहा कि क्षेत्र के विकास के लिए शिक्षा पर ध्यान देने की ज्यादा जरूरत है। उन्होंने कहा कि शिक्षा के महत्व को समझें और अपने बच्चों को खूब पढ़ाए। कार्यक्रम में पूर्वमंत्री हरिमोहन शर्मा ने कहा कि डाबी में आयोजित विकास मेले का ग्रामीणों को खूब लाभ लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि समाज और क्षेत्र के विकास के लिए शिक्षा पर ध्यान देने की जरूरत है।
समारोह में बूंदी प्रधान मधु वर्मा, तालेड़ा प्रधान मोहनलाल गुर्जर,पूर्व जिला प्रमुख राकेश बोयत, अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सदस्य समृद्ध शर्मा, तालेड़ा उपप्रधान अमित शर्मा, सत्येश शर्मा, बाबूलाल वर्मा ने भी संबोधित किया। जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी जुगल किशोर मीणा ने मेले का प्रतिवेदन प्रस्तुत किया।

पूर्व जिला प्रमुख महावीर मीणा, डाबी सरपंच कन्हैयालाल मेघवाल, पूर्व सरपंच रामनिवास गुर्जर, कृषि उपज मंडी समिति के पूर्व अध्यक्ष कमलेश चांदना, पूर्व प्रधान ओमप्रकाश राठौर, युवराज राठौर, भील समाज के राजमल भील,धन्नालाल भील, मांगीलाल भील,राजमल गुर्जर, अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुदर्शन सिंह तोमर आदि ने शहीद नानक भील की प्रतिमा पर माल्यार्पणकिया। संचालन स्वच्छ भारत मिशन के जिला समन्वयक निजामुद्दीन ने किया।

मेले से ‘सरकार’ की रही दूरी
मेले से भाजपा नेताओं की दूरी रही।जनप्रतिनिधि भी अधिकतर कांग्रेस के ही थे। मंच से अधिकतर वक्ता वर्ष 2019 में कांग्रेस की सरकार बनने का दावा करते सुनाई पड़े। भाजपा की इस प्रकार मेले से दूरी यहां चर्चा का विषय बनी रही।

स्टॉल लगाकर बताई योजना
मेले में अलग-अलग विभाग ने अपनी स्टॉल लगाई। इन स्टॉल पर पहुंचे ग्रामीणों को योजनाओं के बारे में बताया गया।कुछ विभागों ने ग्रामीणों को मौके पर लाभान्वित भी किया।

जुगराज को लाने के प्रयास हों तेज
मेले में युवक कांग्रेस प्रदेश महासचिव चर्मेश शर्मा ने जुगराज भील को कराची की जेल से छुड़ाने के उच्च स्तरीय प्रयास किए जाने का प्रस्ताव लेने की मांग उठाई। उन्होंने कहा कि जुगराज के मां-बाप की आंखें बेटे को देखने के लिए तरस गई। अब जब पता चला तो कराची की जेल में बंद होने की बात सामने आई।

 

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned