दूसरे दिन भी गिरी बौछार, खेत हुए जलमग्ïन

दूसरे दिन भी गिरी बौछार, खेत हुए जलमग्ïन

Nagesh Sharma | Publish: Sep, 09 2018 08:59:21 PM (IST) Bundi, Rajasthan, India

जिले में रविवार को बादलों ने अपना डेरा जमाए रखा। इस दौरान शहर में रुक-रुक कर बारिश हुई।

बूंदी. जिले में रविवार को बादलों ने अपना डेरा जमाए रखा। इस दौरान शहर में रुक-रुक कर बारिश हुई। वहीं शनिवार को दिन भर हुई बरसात के चलते रविवार को भी नाले उफने रहे। पुलिस परेड ग्राउण्ड में पानी जमा हो गया। वहीं दूसरी ओर झालीजी का बराना- गेण्डोली मार्ग, रोटेदा-मण्डावरा मार्ग, नमाना- श्यामू तथा कुरेल नदी में उफान आने से रायथल- ऐबरा, रायथल- बूंदी, झुवांसा- ऐबरा, नमानारोड- अंथड़ा, लीलेड़ा, व्यासान-साथेली मार्ग भी बंद है। वहीं दूसरी ओर बरूंधन- तालेड़ा मार्ग सुबह ग्यारह बजे घोड़ा पछाड़ नदी का पानी उतरने के बाद तथा नमाना- बरूंधन, नमाना- बूंदी मार्ग, कालानला- बांसी मार्ग सुबह छह बजे बहाल हो गए है। रविवार सुबह आठ बजे से शाम पांच बजे तक बूंदी में ३, हिण्डोली में ३ एमएम बरसात हुई।
पेड़ गिरने से मोटर साइकिल दबी
बूंदी के जैतसागर रोड स्थित भाटा विलास जीएसएस के निकट एक पुराना पीपल का पेड़ रविवार सुबह अचानक गिर गया। पेड़ के गिरने की आवाज सुनकर आसपास के लोग दौड़ के पहुंचे ओर लोगों की भीड़ जमा हो गई। वही पास ही खड़ी मोटर साइकिल भी पेड़ के गिरने से दब गई। जिसे बाद में पेड़ की टहनियों को काटकर निकाला गया। लोगों ने बताया कि जब यह पेड़ गिरा तब यहां पर कोईनही था। नही तो बड़ा हादसा हो सकता था।
खटकड़.क्षेत्र में लगातार हुईहुईबारिश के बाद खेतों में पानी भर गया है। ऐसे में उड़द की फसल नुकसान का अंदेशा बना हुआ है।वहीं हरिपुरा में शोजी गुर्जर के कच्चा मकान की दीवार ढह गई। गुलखेड़ी में खेलेश्वर महादेव के स्थान पर स्थित एनीकट में चादर चलने लग गई। वहीं शिव मंदिर में भी पानी भर गया है।
बरसात से किसानों की बढ़ रही परेशानी
केशवरायपाटन. कस्बे में शनिवार रात को रूक-रूक कर बरसात होती रही। रविवार को दिनभर बादल छाए रहे। बरसात से किसानों की उड़द व सोयाबीन की फसल में पानी भरने से उन्हें नुकसान हुआ। किसानों ने बताया कि बारिश से उड़द की फलियां व सोयाबीन के खेतों में पानी भरने से फलियां खराब होने की आश

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned