सरकारी स्कूलों में भी बच्चों के शिक्षण पर होगा मंथन

सरकारी स्कूलों में भी बच्चों के शिक्षण पर होगा मंथन

Nagesh Sharma | Publish: Sep, 10 2018 12:42:58 PM (IST) Bundi, Rajasthan, India

निजी स्कूलों की तर्ज पर अब सरकारी स्कूलों में भी अध्यापक-अभिभावक परिषद की बैठक होगी।

बूंदी. निजी स्कूलों की तर्ज पर अब सरकारी स्कूलों में भी अध्यापक-अभिभावक परिषद की बैठक होगी। जिसमें बालिका शिक्षा को प्रोत्साहित करने को लेकर ‘बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ’ थीम पर चर्चा की जाएगी। इसके लिए जिले के सभी सरकारी स्कूलों के बच्चों के अभिभावकों को कार्ड भेजे गए हैं। नए शिक्षा सत्र की पहली बैठक सोमवार को होगी।
प्राप्त जानकारी के अनुसार पचासी फीसदी से कम अभिभावकों की अनुपस्थिति में संस्था प्रधान के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इसमें उनसे अनुपस्थिति होने का कारण मांगा जाएगा। राजस्थान स्कूल शिक्षा परिषद की राज्य परियोजना निदेशक शिवांगी स्वर्णकार ने उक्त आदेश जारी किए हैं।इसके लिए जयपुर, बीकानेर शिक्षा निदेशक से अधिकारी स्कूलों का निरीक्षण करेंगे। इसके अलावा जिला स्तरीय अधिकारियों को भी स्कूलों में लगाया गया है। बैठक स्कूल समय सुबह 8 से दोपहर 2.10 तक चलेगी। जिसमें अभिभावकों को बच्चों की पढ़ाई, उसकी उपस्थिति, पढऩे में कैसा है व सांस्कृतिक कार्यक्रम आदि अन्य गतिविधियों पर चर्चा की जाएगी। वहीं स्कूलों में लागू की गई योजनाओं पर सहमति बनाई जाएगी।
50 प्रतिशत हो उपस्थिति
कार्यक्रम अधिकारी रमसा उम्मे हबीबा ने बताया कि स्कूल शिक्षा परिषद की ओर से जारी आदेश में स्कूलों के संस्था प्रधानों को बच्चों के अभिभावकों की 50 प्रतिशत से ज्यादा उपस्थिति अनिवार्य रखी गई है। उपस्थित अभिभावक की जानकारी शाला दर्पण पर भी अपडेट करनी होगी। कक्षा टीचर की जिम्मेदारी होगी कि उसकी कक्षा में कितने बच्चे है, उतने ही अभिभावक की उपस्थिति हो। 50 प्रतिशत अभिभावकों की उनुपस्थिति नहीं होने पर संस्था प्रधान से अभिभावकों के बैठक में नहीं आने का कारण पूछा जाएगा।
यह है उद्देश्य
सरकारी स्कूलों में अभिभावक-अध्यापक की बैठक कराने के पीछे इसका उद्देश्य बच्चों के प्रति माता-पिता जिम्मेदार बने ओर उनको इस बारे में जानकारी हो कि उनका बच्चा पढ़ाई में कैसा है। अंक कितने आ रहे हैं व बच्चों की समस्या के समाधान को लेकर चर्चा की जाएगी।
‘बैठक में बच्चों की गतिविधियों व उनके विकास के बारे में अभिभावकों को जानकारी दी जाएगी। सम्बंधित स्कूलों के द्वारा बच्चों के अभिभावकों को कार्ड, मोबाइल से संदेश भेजे गए हैं।
तेजकंवर, जिला शिक्षा अधिकारी (माध्यमिक), बूंदी

शिक्षा, विद्यालय, बैठक, बच्चे, अभिभावक, मोबाइल, शाला दर्पण,

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned