सरकार से गुहार, सरकारी कॉलेज की दरकार

सरकार से गुहार, सरकारी कॉलेज की दरकार

DEVENDRA DEVERA | Publish: Sep, 06 2018 03:58:28 PM (IST) Bundi, Rajasthan, India

कॉलेज को सरकारी करने की मांग को लेकर एसडीएम कार्यालय पर धरना जारी है। बुधवार को गांवों से ग्रामीण व छात्र धरने पर बैठे।

नैनवां. बूंदी. कॉलेज को सरकारी करने की मांग को लेकर एसडीएम कार्यालय पर धरना जारी है। बुधवार को गांवों से ग्रामीण व छात्र धरने पर बैठे।

बोरदा के शंकरलाल, महावीर, हीरापुर के श्योजीलाल, नाहरी के छीतरलाल, भावपुरा के विकास नागर, तोलाराम नागर, तुलसीराम नागर, दुगारी के अनुराग गौतम, कुलदीप चौहान, राजकुमार चंादना, दीपक चौपड़ा, विनोद नागर, नरेश नागर, राकेश प्रजापत, दीपक शर्मा, प्रद्युमन सैनी, मुकेश गुर्जर व पंकज रजक धरने पर बैठे। एसडीएम कार्यालय पर धरना जारी है।

संविदा शिक्षकों ने काली पट्टी बांधकर जताया विरोध
बूंदी. अखिल राजस्थान पैराटीचर्स, मदरसा शिक्षा सहयोगी, शिक्षाकर्मी संयुक्त संघर्ष समिति के आह्वान पर बुधवार को संविदा शिक्षकों ने काली पट्टी बांध कर कलक्ट्रेट के बाहर धरना दिया गया।

धरने पर शिक्षकों ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। इस दौरान जिले के सभी संविदा शिक्षक सामूहिक अवकाश पर रहे। धरने पर शिक्षकों का सम्मान किया गया। इसके बाद रैली के रूप में कलक्ट्रेट पहुंच संविदा कर्मचारियों ने जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंपा।

ज्ञापन में विद्यालय सहायक भर्ती को शीघ्र पूरा करने और निर्णयानुसार वेतन परिलाभ देने की मांग की। इस दौरान पैराटीचर्स संघ जिलाध्यक्ष गणेश चंदेल, शिक्षाकर्मी जिलाध्यक्ष हरलाल गुर्जर, संजय खान, महिमा शीहर, कार्यक्रम प्रभारी चंदा शर्मा, इस्तिफाक गौरी, अमिता शर्मा, शोभा मेघवाल आदि मौजूद

चयनित शिक्षकों को नियुक्ति देने की मांग
बूंदी. अखिल राजस्थान चयनित शिक्षक संघ-९८ से जुड़े शिक्षकों ने १९९८ में चयनित शिक्षकों की नियुक्ति की मांग को लेकर जिला कलक्टर को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा।

ज्ञापन में बताया कि २८ अगस्त को प्रमुख शासन सचिव (स्कूल शिक्षा) नरेशपाल गंगवार की अध्यक्षता में हुई बैठक में १९९८ में नियुक्ति से वंचित शिक्षकों की नियुक्ति को लेकर सकारात्मक वार्ता हुई थी, लेकिन अभी तक इस सम्बंध में कोई कार्रवाई नहीं हुई। ज्ञापन देने वालों में जिलाध्यक्ष कृपाकृष्ण शर्मा, राजेश कुमार सालूजा, विनोद कुमार शर्मा, दीनदयाल वर्मा, राजेन्द्र सिंह, राधारानी शर्मा आदि शामिल थे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned