हाड़ौती के इस कस्बे में नींद खुली तो कतार में थे, दिन निकला तो होश उड़ गए

क्षेत्र में खाद की किल्लत थमने का नाम नहीं ले रही। जब नैनवां क्रय विक्रय सहकारी समिति लिमिटेड देई केंद्र के बांसी गोदाम पर रविवार सुबह पांच बजे तीन ट्रक में 54 मैट्रिक टन यूरिया पहुंचा तो क्षेत्र के ग्रामीण खाद के लिए उमड़ पड़े।

By: pankaj joshi

Published: 25 Nov 2018, 09:46 PM IST

Bundi, Bundi, Rajasthan, India

भंडेड़ा. क्षेत्र में खाद की किल्लत थमने का नाम नहीं ले रही। जब नैनवां क्रय विक्रय सहकारी समिति लिमिटेड देई केंद्र के बांसी गोदाम पर रविवार सुबह पांच बजे तीन ट्रक में 54 मैट्रिक टन यूरिया पहुंचा तो क्षेत्र के ग्रामीण खाद के लिए उमड़ पड़े।
देखते ही देखते नौ बजे तक गोदाम परिसर किसानों से अट गया।भीड़ अधिक होने से यहां किसानों को टोकन दिए गए। इन्हीं टोकन के आधार पर एक किसान को दो कट्टा खाद दिया।यहां मरां गांव से आए विकलांग पप्पू खां ने दो दिन तक घूमने के बाद अपनी एवज में एक अन्य साथी को खड़ा किया तब खाद मिला। खाद तीन घंटे में ही खत्म हो गया।
करवर.कस्बे में रविवार को सहकारी समिति में एक ट्रक खाद पहुंचा। सरकारी समिति ने करवर निवासी किसानों को ही एक बैग के हिसाब से वितरण किया। अन्य गांवों से आए किसानों को निराश लौटना पड़ा। कार्यवाहक सहायक कृषि अधिकारी बुद्धिप्रकाश सैनी, माणी कृषि पर्यवेक्षक मीना कुमारी ने किसानों को कतार में लगवाया और प्रति किसान एक कट्टा बांटा गया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned