यहां पालिकाध्यक्ष के चेम्बर में कर दी तोड़-फोड़, फिर जानें क्या हुआ...

नलकूपों की टेंडर प्रक्रिया से खफा पार्षदों ने किया हंगामा, नगरपालिका के गेट पर ताला लगाया

By: Abhishek ojha

Published: 12 Apr 2021, 09:03 PM IST

नैनवां. नैनवां नगरपालिका में सोमवार को पार्षदों ने हंगामा कर दिया। पालिकाध्यक्ष के चेम्बर में तोडफ़ोड़ करने के बाद नगरपालिका के गेट पर ताला लगा दिया। पार्षद कस्बे में पेयजल के लिए नगरपालिका की ओर से लगाए नलकूपों की टेंडर प्रक्रिया से खफा थे। पालिकाध्यक्ष के चेम्बर में तोडफ़ोड़ की सूचना मिली तो पुलिस अधिकारी भी नगरपालिका पहुंचे। तोडफ़ोड के मामले में अधिशासी अधिकारी द्वारा अज्ञात के खिलाफ सरकारी सम्पति के नुकसान पहुंचाने की रिपोर्ट दी। तोडफ़ोड़ करने वालों का पता लगाने के लिए सीसीटीवी कैमरे को खंगाला तो सभी कैमरे चालू मिले लेकिन चेम्बर के अन्दर लगा कैमरा बंद मिला।
नलकूप लगाने के लिए सिर्फ दस वार्डों के लिए ही टेण्डर प्रक्रिया जारी करने से खफा होकर नगरपालिका में पहुंचे और अपना रोष जताया। उस समय पालिकाध्यक्ष नगरपालिका में नहीं होने से कुछ पार्षदों ने नगरपालिका अध्यक्ष के चेम्बर में तोडफ़ोड़ के साथ पालिकाध्यक्ष की कुर्सी भी तोड़ दी। कुर्सी के अलावा, टेबल पर लगा शीशा, गमलों के साथ अन्य सामान तोड़ दिए। घटना के बाद पुलिस उपाधीक्षक कैलाशचंद जाट, थानाधिकारी बृजभानसिंह, एएसआई लादूसिंह नगरपालिका कार्यालय पहुंचेे और घटना क्रम की जानकारी जुटाई।
यह पार्षद बैठे धरने पर
पार्षदों ने पालिका के मुख्य गेट पर ताला लगा दिया। ताला लगाने के बाद पार्षद नबील अंसारी, अमृतराज मीना, गोविन्द सैनी, रजनीश शर्मा, भूपेन्द्र साहू, जितेन्द्र बैरवा, मोहम्मद सलीम, कपिल जैन व दिलखुश पोटर के अलावा दो अन्य भी नगरपालिका के मुख्य गेट पर धरना देकर बैठ गए। पार्षद नबील अंसारी का कहना था कि नगरपालिका ने 25 वार्डों में से परकोटे के अन्दर के दस वार्डों में नलकूप के टेण्डर जारी करना चाहा। जबकि पानी की समस्या तो सभी वार्डों में बनी हुई है तो नलकूप भी सभी वार्डों में लगाया जाना चाहिए था। पार्षदों के धरने पर बैठने के बाद अधिशासी अधिकारी महिमा डांगी पार्षदों से बात करने के लिए गेट पर आई। अधिशासी अधिकारी द्वारा सभी वार्डों में नलकूप लगाने के लिए टेंडर प्रक्रिया शुरू करने का आश्वासन देने के बाद पार्षदों ने ताला खोलकर धरना समाप्त कर दिया।
पालिकाध्यक्ष व अधिशासी अधिकारी का कहना
पालिकाध्यक्ष प्रेमबाई गुर्जर ने कहा कि जिस किसी को भी कोई समस्या थी तो मुझे बताई जाती। समस्याओं का समाधान बातचीत से ही होता है। किसी के चेम्बर में घुसकर तोड़ फोड़ करने से नहीं होता। अधिशासी अधिकारी को मामला दर्ज कराने को कहा है। इधर अधिशासी अधिकारी महिमा डांगी ने बताया कि पालिकाध्यक्ष के चेम्बर में हुई तोडफ़ोड़ की घटना के मामले में अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दी है। दोपहर को पालिकाध्यक्ष प्रेमबाई गुर्जर कार्यालय में आई तो उनको अपने चेम्बर में तोड़ फोड़ मिली। उनकी कुर्सी टूटी पड़ी थी, कांच व गमले आदि भी टूटे मिले व सम्पूर्ण चेम्बर तहस-नहस मिला।
थानाधिकारी का कहना
थानाधिकारी बृजभानसिंह ने बताया कि अधिशासी अधिकारी ने अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दी है। जिसको अभी जांच में रखा है। पालिका में लगे सीसी कैमरों की रिकॉर्डिंग निकाली जा रही है। उसके बाद मामला दर्ज किया जाएगा।

Abhishek ojha
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned