जिलेभर में बंद का आह्वान, किया जनसम्पर्क

जिलेभर में बंद का आह्वान, किया जनसम्पर्क

DEVENDRA DEVERA | Publish: Sep, 05 2018 09:33:28 PM (IST) Bundi, Rajasthan, India

एससी-एसटी एक्ट में हुए संशोधन के विरोध में गुरुवार को बूंदी शहर सहित जिले के कई छोटे-बड़े कस्बे बंद रहेंगे।

-विभिन्न संगठनों ने दिया समर्थन
-एससी-एसटी एक्ट में हुए संशोधन का विरोध
बूंदी. एससी-एसटी एक्ट में हुए संशोधन के विरोध में गुरुवार को बूंदी शहर सहित जिले के कई छोटे-बड़े कस्बे बंद रहेंगे। गैर राजनैतिक सामान्य पिछड़ा जागृति मंच के आह्वान पर बंद को लेकर बुधवार को संघर्ष समिति के पदाधिकारियों ने अलग-अलग टोलियां बनाकर सम्पर्क किया। शहर के कोटा रोड, इंद्रा मार्केट, मीरां गेट, अहिंसा सर्किल, नैनवां रोड, लंकागेट में जुलूस के रूप में पहुंचकर बंद रखने की अपील की। मंच ने विज्ञिप्त जारी कर बताया कि सर्व ब्राह्मण महासभा, ब्राह्मण कल्याण परिषद्, सकल जैन समाज, राजपूत करणी सेना, सकल वैश्य समाज, जांगीड समाज, बार एसोसिएशन, टेक्स बार एसोसिएशन, मोटर एसोसिएशन, मोटर पार्टस एसोसिएशन, होटल रेस्टोरेंट एसोसिएशन, पेट्रोल पंप एसोसिएशन, डेयरी एसोसिएशन, मेडिकल एसोसिएशन, आढ़तिया संघ, राठौड़ समाज, फूलमाली सैनी, सिंधी-पंजाबी समाज, सिख समाज, प्रजापति समाज सहित कई संगठनों ने बंद का समर्थन किया है।
संघर्ष समिति के सदस्य जगदीश जैथलिया एवं विजेन्द्र माहेश्वरी ने बताया कि पेट्रोल पंप एवं मेडिकल की दुकानें दोपहर 12 बजे तक बंद रहेगी, जबकि रेडक्रास मेडिकल खुला रहेगा। संघर्ष समिति के मिथलेश दाधीच व राजेंद्र्र सिंह नरुका ने बताया कि बंद को लेकर अलग-अलग बाजार के लिए प्रभारी नियुक्त कर जिम्मेदारियां सौंपी गई है। पदाधिकारी सुबह चौगान गेट पर एकत्रित होंगे। इसके बाद जुलूस के रूप में कलक्ट्रेट पहुंचेंगे और प्रधानमंत्री के नाम जिला कलक्टर को ज्ञापन देंगे। समता आंदोलन समिति के अध्यक्ष ओमप्रकाश शर्मा ने बताया कि सामान्य एवं ओबीसी अनारक्षित वर्ग के सभी राजकीय एवं निजी विद्यालयों से जुड़े अध्यापक, अधिकारी, कर्मचारी स्वैच्छिक अवकाश लेकर बंद को सफल बनाएंगे।
सांसद ने दिया पूरी बात रखने का भरोसा
गैर राजनैतिक सामान्य पिछडा जागृति मंच के सदस्य दोपहर को सर्किट हाउस में आए सांसद ओम बिरला से मिले। उन्होंने संासद बिरला के सामने एससी-एसटी एक्ट में हुए संशोधन को लेकर सरकार के खिलाफ रोष जताया। सदस्यों ने कहा कि इस एक्ट के विरोध में सामान्य वर्ग के जन प्रतिनिधियों को भी साथ देना चाहिए। उन्होंने मांग रखी कि इस मामले में सांसद पूरी बात प्रभावी ढंग से संसद में रखे। सांसद बिरला ने मौजूद लोगों को भरोसा दिया कि उनकी मांग को पूरे जोरशोर से सरकार के समक्ष रखा जाएगा।

चिकित्सक व कर्मचारी भी अवकाश पर रहेंगे
जिला अस्पताल में कार्यरत चिकित्सकों ने एक्ट के विरोध में गुरुवार को आकस्मिक अवकाश पर रहने का निर्णय किया है। उन्होंने इस मामले में बुधवार शाम को मुख्यमंत्री के नाम जिला अस्पताल के पीएमओ को ज्ञापन दिया। जिसमें सामान्य व ओबीसी वर्ग के सभी चिकित्सकों ने आकस्मिक अवकाश पर रहने की सूचना दी। उधर जिला क्षय रोग निवारण केंद्र में कार्यरत कर्मचारी, लैब तकनीशियन, कोर्डिनेटर सहित अन्य कर्मचारियों ने भी सामूहिक अवकाश पर रहने का निर्णय किया है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned