कबड्डी में खिलाडिय़ों ने दिखाया जोश

कबड्डी में खिलाडिय़ों ने दिखाया जोश

Nagesh Sharma | Publish: Sep, 03 2018 01:24:52 PM (IST) Bundi, Rajasthan, India

शिक्षा विभाग की ओर से चल रही 63वीं जिला स्तरीय कबड्डी प्रतियोगिता के दूसरे दिन नौ-नौ मैच खेले गए।

बूंदी. शिक्षा विभाग की ओर से चल रही 63वीं जिला स्तरीय कबड्डी प्रतियोगिता के दूसरे दिन नौ-नौ मैच खेले गए। पंडित मोतीलाल सुखवाल सीनियर सैकंडरी स्कूल की मेजबानी में चल रही 17 व 19 वर्ष के विद्यार्थियों की कबड्डी प्रतियोगिता में खिलाडियों में जोश नजर आया। स्कूल निदेशक लोकेश सुखवाल ने बताया कि 17 वर्ष की छात्र वर्ग की प्रतियोगिता में औंकारपुरा ने रोटेदा, बडूंदा ने देलूंदा, खेडिय़ा दुर्जन ने उमर, माखीदा ने गम्भीरा, औंकारपुरा ने खेरखटा, खजूरी ने खेडिय़ा दुर्जन, गोठड़ा ने माखीदा को तथा औंकारपुरा की टीम ने सहण को हराया। इसी तरह 19 वर्ष छात्र वर्ग में देई ने बांसी को, गोठड़ा ने बरूंधन, रानीपुरा ने बाछोला, बाजड़ ने चरड़ाना, रोटेदा ने धाबाइयों का नयागांव को, जैतपुर ने गोहाटा, सांवतगढ़ ने गोठड़ा, बाजड़ ने रानीपुरा तथा जैतपुर ने रोटेदा की टीम को परास्त किया।
विजयी श्री के लिए खिलाडिय़ों ने लगाया दम
दत्तात्रेय शिक्षण संस्थान की ओर से चल रही ६३वीं जिला स्तरीय हैंडबॉल प्रतियोगिता (१७ से १९ वर्ष) छात्रा वर्ग की दूसरे दिन भी खिलाडिय़ों ने हायर सैकेंडरी स्कूल मैदान में दमखम दिखाया। खिलाडिय़ों ने अपनी टीमों को विजयी बनाया। आयोजन से जुडे दिनेश गोस्वमी ने बताया कि १७ वर्ष आयु वर्ग में दत्तात्रेय सैकेंडरी स्कूल बूंदी ने राजकीय उच्च माध्यामिक विद्यालय चितावा को ४-२, राजकीय माध्यमिक विद्यालय गादेगाल ने राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय समीधी को ६-१ से हराया। इसी तरह १९ वर्ष आयु वर्ग में राजकीय उच्च माध्यामिक विद्यालय विकास नगर ने राजकीय उच्च माध्यामिक विद्यालय डाटूंदा को ६-२, राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय धोवड़ा ने राजकीय उच्च माध्यामिक विद्यालय समीधी को ५-२ से हराया।
खेलों से आता जीवन में अनुशासन
जिला स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता का समापन
बूंदी.विद्या भारती शिक्षा संस्थान बूंदी की जिला स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता के समापन अवसर पर मुख्य वक्ता राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के जिला प्रचारक अनिल ने कहा कि खेलों से जीवन में अनुशासन आता है। हमारे पारंपरिक खेल समाप्त होते जा रहे हैं। उन्हें वापस हमें जीवित रखना है।
खो-खो, कबड्डी, रुमाल झपट्टा, सतोलिया हमारे पारंपरिक खेल है। विद्या भारती की ओर से चलाए जा रहे विद्यालयों में इन खेलों को प्रमुखता से खेला जाता है, जिससे हमारी संस्कृति जीवित है। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे रमेश भारद्वाज ने विद्यार्थियों को हार से निराश नहीं होकर आगे बढऩे के लिए दृढ़ संकल्प दिलाया।
मुख्य अतिथि विद्या भारती के पूर्व छात्र डॉक्टर हिमांशु गौतम ने अपने पुराने संस्मरण बताए। उन्होंने कहा कि कठोर परिश्रम से जीवन में सफसलता मिलती है। इसलिए लगातार प्रयास करें।
कबड्डी में आदर्श विद्या मंदिर नैनवां रोड के भैया-बहन प्रथम रहे। एथलेटिक्स दौड़ प्रतियोगिता में हिंडोली के भैया प्रथम रहे। कार्यक्रम के प्रबंध प्रमुख सत्यनारायण ने आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर जिला सचिव जय प्रकाश शर्मा, प्रधानाचार्य राधेश्याम शर्मा, संयोजक हेमेंद्र उपस्थित रहे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned