कठिन है डगर अंतिम सफर की

कठिन है डगर अंतिम सफर की

Nagesh Sharma | Publish: Sep, 09 2018 08:23:34 PM (IST) Bundi, Rajasthan, India

कस्बे के मुक्तिधाम मार्ग पर डामरीकरण नहीं तथा मुक्तिधाम पर टीनशेड नहीं होने से चलते अंतिम संस्कार करने में लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

कीचड़ से सने रास्ते से निकली अंतिम यात्रा
मुक्तिधाम मार्ग पर डामरीकरण नहीं
अंतिम संस्कार करने में लोगों को परेशानी
टीनशेड नहीं होने से बरसात के समय तिरपाल तान कर दाह संस्कार करना पड़ता है
नोताड़ा. कस्बे के मुक्तिधाम मार्ग पर डामरीकरण नहीं तथा मुक्तिधाम पर टीनशेड नहीं होने से चलते अंतिम संस्कार करने में लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। रविवार को भी एक महिला की मौत हो जाने के बाद कीचड़ से सने रास्ते से मुक्तिधाम तक पहुंचना पड़ा। जानकारी के अनुसार मुक्तिधाम का रास्ता कच्चा होने से रास्ते में कीचड़ ही कीचड़ हो रहा है। मुक्तिधाम स्थल पर टीनशेड नहीं होने से बरसात के समय तिरपाल तान कर दाह संस्कार करना पड़ता है। रविवार को कल्याणी बाई धोबी (6 0)कि मौत हो जाने पर अंतिम यात्रा के दौरान रास्ते में ग्रामीणों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। अंतिम संस्कार के दौरान बरसात शुरू हो गईहै। ऐसे में लोगों को तिरपाल लगाकर अंतिम संस्कार करना पड़ा। उधर सरपंच बलराम मालव ने बताया कि मुक्तिधाम में टीन शेड का कार्य वार्षिक कार्ययोजना में ले रखा है जिसके तहत टीन शेड व चबूतरे का निर्माण कार्य करवा दिया जाएगा। नोताड़ा से लक्ष्मीपुरा तक मुक्तिधाम के आगे होकर ग्रेवल करवा दिया जाएगा।


बदहाल है सहण गांव के मुक्तिधाम, 8 घंटे की मशक्ïकत के बाद हुआ दाह संस्कार
करवर. क्षेत्र की सहण पंचायत के मुक्तिधाम इन दिनों बदहाल है। जहां मनुष्य को जीवन में आराम व शांति नहीं है वही उसकी मौत होने के बाद भी उसके दाह संस्कार में लोगों को परेशानी से गुजरना पड़ रहा है। जानकारी अनुसार सहण गांव में शनिवार को मोतीलाल गुजज़्र की मौत हो गई थी जिसका दाह संस्कार करने के लिए ग्रामीण सुबह 6 बजे मुक्तिधाम पहुंचे परंतु लगातार हो रही बरसात एवं मुक्तिधाम स्थल पर टीन शेड की व्यवस्था नहीं होने से ग्रामीणों को टेंट से पाइप मंगवाकर त्रिपाल तान कर शव को भीगने से बचाते रहे। बाद में अस्थाई रूप से टीन शेड लगाकर 8 घंटे की मशक्ïकत के बाद दाह संस्कार कर पाए। ग्रामीणों ने ग्राम पंचायत प्रशासन के प्रति नाराजगी जताई वही मुक्तिधाम पर टीन सेड व्यवस्था कराने की मांग रखी । यहां पर पहले टीन शेड स्थापित थे परंतु गर्मी के दिनों में आए अंधड से टीन शेड टूट गए थे तब से ही टूटे पड़े हुए हैं ।तब से ग्रामीणों को बरसात के दिनों में दाह संस्कार करने में परेशानी से गुजरना पड़ रहा है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned