दावत में खिलाया खाना अब यहां देना पड़ रहा पाई-पाई का हिसाब

विधानसभा आमचुनाव के तहत अभ्यर्थियों के व्यय लेखों की पहली जांच रविवार को केंद्रीय व्यय पर्यवेक्षक आनंद कुमार ने की।

By: pankaj joshi

Updated: 25 Nov 2018, 09:37 PM IST

Bundi, Bundi, Rajasthan, India

केन्द्रीय व्यय पर्यवेक्षक ने जांचे अभ्यर्थियों के खर्च का ब्योरा
बूंदी.विधानसभा आमचुनाव के तहत अभ्यर्थियों के व्यय लेखों की पहली जांच रविवार को केंद्रीय व्यय पर्यवेक्षक आनंद कुमार ने की। व्यय पर्यवेक्षक ने अभ्यर्थियों की ओर से संधारित किए गए खर्चे के ब्योरे को जांचा।
व्यय पर्यवेक्षक आनंद कुमार ने कहा कि अभ्यर्थी छोटे से छोटे खर्चे को दर्ज कराएं और उसका उचित विधि से संधारण कराएं। हर खर्चे के लिए आय का स्रोत स्पष्ट हो और किए गए खर्चे के सभी बिल वाउचर संधारित हो। सभी प्रकार के लेनदेन निर्वाचन के लिए अभ्यर्थी की ओर से खोले गए विशेष बैंक खाते में से ही किए जाएं। इसके अलावा किसी अन्य खाते से निर्वाचन संबंधी लेन-देन नहीं किया जाए।
उन्होंने बताया कि अभ्यर्थियों के खर्चे का मिलान सहायक व्यय पर्यवेक्षक की ओर से तैयार किए ब्योरे से किया जाएगा। यदि दोनों में मिलान नहीं होता है तो इस संबंध में पूछताछ की जाएगी। यदि अभ्यर्थी किसी ऐसे खर्चे को स्वीकार नहीं करे, जो उसके रजिस्टर में दर्ज नहीं है और सहायक व्यय पर्यवेक्षक द्वारा दर्ज किया गया है तो इस संबंध में रिटर्निंग अधिकारी उसे नोटिस देंगे।
अगली जांच 30 को
निर्वाचन व्यय संबंधी अभ्यर्थियों की दूसरी जांच 30 नवंबर को व्यय पर्यवेक्षक द्वारा की जाएगी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned