हमारी मांगें पूरी करो वरना सड़ जाएगा शहर

नगर पालिका में सफाई कर्मचारी की नियुक्ति नहीं मिलने से नाराज वाल्मीकि समाज की महिलाओं ने गुरुवार को भी विरोध प्रदर्शन किया।

By: Devendra

Published: 20 Jul 2018, 03:24 PM IST

इंद्रगढ़. बूंदी. नगर पालिका में सफाई कर्मचारी की नियुक्ति नहीं मिलने से नाराज वाल्मीकि समाज की महिलाओं ने गुरुवार को भी विरोध प्रदर्शन किया। उनके समर्थन में पालिका के स्थायी सफाई कर्मचारी भी दोपहर करीब एक बजे हड़ताल पर उतर गए। इससे कस्बे की सफाई व्यवस्था पूरी तरह से ठप हो गई।

सफाई कर्मचारी भर्ती में अनियमितता का आरोप लगाते हुए कर्मचारियों ने कचरा वाहन का कचरा सड़क पर खाली कर दिया। जिससे सड़क पर गंदगी फैल गई, बदबू के कारण लोगों का रास्ते से निकलना मुश्किल हो गया। नगर पालिका के स्थायी कर्मचारियों ने कहा कि जब तक समाज के लोगों को उनका हक नहीं मिल जाता तब तक काम पर नहीं लौटेंगे।

नगर पालिका के बाहर वाल्मीकि समाज की महिलाओं व युवाओं ने जमकर नारे लगाए। इसके बाद कस्बे में जुलूस निकालकर विरोध जताया। शाम करीब पांच बजे वाल्मीकि समाज के लोगों ने नगर पालिकाध्यक्ष, अधिशासी अधिकारी व राज्य सफाई आयोग अध्यक्ष के पुतले को लेकर विरोध प्रदर्शन किया।
उन्होंने कहा कि जब तक अन्य जाति के नवनियुक्त सफाई कर्मचारियों से सफाई कार्य नहीं कराएंगे तब तक आंदोलन जारी रहेगा।

इसके साथ ही अन्य जाति वर्ग के सफाई कर्मचारियों के अनुभव प्रमाण पत्रों की निष्पक्ष जांच की जाए। वहीं जिन कर्मचारियों के तीन संतान हैं उन्हें किस आधार पर नियुक्ति दी गई। ऐसे में पूरी प्रक्रिया की निष्पक्ष जांच कराई जाए। ताकि समाज को उसका हक मिल सके। इस दौरान ज्ञानचंद, कालू लाल, रामनिवास, सुरेश कुमार, कन्हैया लाल सहित कई लोग मौजूद थे।

नवनियुक्त कर्मचारियों ने की सफाई
उधर, वाल्मीकि समाज के दबाव के बाद पालिका प्रशासन ने नवनियुक्त सफाई कर्मचारियों को सफाई के निर्देश दिए। इस पर उन्होंने मेवाती मोहल्ला व तालाब के निकट नाले की सफाई की। इस दौरान वाल्मीकि समाज के युवा भी वहां पहुंच गए। उन्होंने अन्य जाति वर्ग के नवनियुक्त सफाई कर्मचारियों के मोबाइल पर वीडियो बनाकर वायरल कर दिए। जो आम लोगों में चर्चा का विषय बना रहा।

Show More
Devendra
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned