सावन में करे ये उपाय... होगी सभी मनोकामनाएं पूरी

ऐसा संयोग बन रहा है कि इस बार पूरे 30 दिनों तक सावन का महीना रहेगा।

By: Suraksha Rajora

Published: 24 Jul 2018, 07:45 PM IST

 

बूंदी. भगवान शिव का प्रिय सावन का महीना 28 जुलाई से शुरू हो रहा है। सावन का पहला सोमवार 30 जुलाई को है। इस पवित्र महीने में भगवान शिव और माता पार्वती की आराधना करने पर हर मनोकामना जरूर पूरी होती है।

 

 

ज्योतिषाचार्य अमित जैन ने बताया इस साल का सावन बेहद खास है, क्योंकि 19 साल के बाद ऐसा संयोग बन रहा है कि इस बार पूरे 30 दिनों तक सावन का महीना रहेगा। इसके साथ ही इस सावन में चार सोमवार भी पड़ेंगे।ज्योतिषाचार्य अमित जैन ने बताया कि श्रावण मास में अचूक उपायों से होगी सभी मनोकामनाएं पूरी

 

 

1. सावन में रोज 21 बिल्वपत्रों पर चंदन से 'ऊं नम: शिवाय' लिखकर शिवलिंग पर चढ़ाएं. इस एक उपाय से आपकी सभी मनोकामनाएं पूरी होंगी.

 

2. अगर घर में किसी भी प्रकार की परेशानी हो तो सावन में रोज सुबह घर में गोमूत्र का छिडक़ाव करने के साथ ही गुग्गुल धूप जलाएं.

 

3. विवाह में आ रही अड़चन दूर करने के लिए सावन में रोज शिवलिंग पर केसर मिला दूध चढ़ाएं. इससे विवाह के योग जल्दी बनते हैं.

 

4. सावन में रोज नंदी (बैल) को हरा चारा खिलाएं. इससे जीवन में सुख-समृद्धि आएगी और मन प्रसन्न रहेगा.

 

5. सावन में गरीबों को भोजन कराने से आपके घर में कभी अन्न की कमी नहीं होती और साथ ही पितरों को भी शांति मिलती है.

 

6. सावन में रोज सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि से निपट कर मंदिर जाएं और भगवान शिव का जल से अभिषेक करने के साथ ही काले तिल अर्पण करें. इसके बाद मंदिर में कुछ देर बैठकर मन ही मन में 'ऊं नम: शिवाय' मंत्र का जाप करें. इससे मन को शांति मिलेगी.

 

7. सावन में किसी नदी या तालाब जाकर आटे की गोलियां मछलियों को खिलाएं और साथ ही साथ मन में भगवान शिव का ध्यान करते रहें. यह धन प्राप्ति का सबसे आसान उपाय है.

 

8.पति-पत्नी में प्रेम न हो, गृह क्लेश हो, हो तो मक्खन-मिश्री का मिश्रण 108 बिल्वपत्रों पर रखकर चढ़ाएं। मनोकामना निश्चित रूप से पूर्ण होगी।

 

9.धन की इच्छा हो तो खीर से शिव का अभिषेक करें।


10.यदि सुख-समृद्धि की इच्छा हो तो भांग को घोटकर शिवजी का अभिषेक करें, लाभ होगा।

 

11.कालसर्प के लिए भी शिवपूजा विशेष फलदायी है। कलियुग में शिव की पार्थिव पूजा का विधान भी है। इसके लिए बांबी, गंगा, तालाब, वेश्या के घर और घुड़साल की मिट्टी तथा मक्खन और मिश्री मिलाकर 108 शिवलिंग बनाकर उनका अभिषेक करें तो सभी मनोकामनाएं पूरी होंगी, लेकिन सायंकाल को यह सभी 108 शिवलिंग जल में प्रवाहित कर दें।

Suraksha Rajora
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned