नदियों ने थामी राहे, सीलन से ढहने लगे आशियाने

नदियों ने थामी राहे, सीलन से ढहने लगे आशियाने

Nagesh Sharma | Publish: Sep, 09 2018 08:36:47 PM (IST) | Updated: Sep, 09 2018 08:40:22 PM (IST) Bundi, Rajasthan, India

लगातार हुई बरसात व कोटा बैराज से छोड़े जा रहे पानी के चलते चंबल नदी की पुलिया रविवार सुबह से जलमग्न रही।

रोटेदा. लगातार हुई बरसात व कोटा बैराज से छोड़े जा रहे पानी के चलते चंबल नदी की पुलिया रविवार सुबह से जलमग्न रही। जिससे दो जिलों का संपर्क कट गया। रोटेदा मण्डावरा मार्ग पूरी तरह से बंद रहा। उक्त मार्ग बूंदी जिले को कोटा व मध्यप्रदेश के श्योपुर जिले से जोड़ता है। पुलिया जलमग्न होने से वाहन चालकों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। वाहन चालकों को अन्य मार्गों से गुजरना पड़ रहा है। पुलिया पर सुबह दस बजे तीन फीट पानी की चादर चल रही थी। प्रशासन ने अलर्ट जारी कर लोगों को नदी किनारे नहीं जाने की हिदायत दी। फिर भी कई युवा शिव मंदिर शिखर व चट्टानों पर जा बैठे।
11 घंटे बाधित रहा बरूंधन-तालेड़ा मार्ग
बरूंधन. क्षेत्र में पिछले तीन दिन से हो रही बरसात से नदी नाले उफान पर रहे। इससे बरूंधन वाया तालेड़ा मार्ग के बीच घाघड़ नाले में उफान रहने से रास्ता बंद रहा। यहां शनिवार रात करीब 12 बजे से मार्ग अवरूद्ध हो गया। परेशानी झेलते हुए अपने वाहनों के साथ दोनों तरफ के लोगों को रुकना पड़ा। रविवार सवेरे करीब 10 बजे नाले का जलस्तर कम हुआ। इसके एक घंटे बाद यातायात शुरू होने के साथ ही सड़क पर लोगों का आवागमन फिर से चालू हुआ।
रामगंजबालाजी. बरसात के चलते कुरेल नदी में पानी की आवक बढऩे से रायथल ऐबरा मार्ग रविवार को दूसरे दिन भी बंद रहा। नदी में पुलिया के ऊपर करीब 20 फीट पानी चल रहा है। पानी की आवक बढऩे से रायथल व ऐबरा गांवो का सम्पर्क जिला मुख्यालय से कटा हुआ है। वहीं रायथल से बूंदी आने वाले मार्ग की ब्लांडी में पानी की आवक बढ़ गयी। वहीं ऐबरा-झुंवासा मार्ग भी बंद है। कुरेल नदी में पानी आने के बाद लीलेड़ा व्यासान - साथेली मार्ग तथा नमाना रोड- अन्थड़ा मार्ग भी बंद पड़ा है। कुरेल नदी में पानी आने के बाद आधा दर्जन से अधिक गांवों का सम्पर्क जिला मुख्यालय से टूट गया।
झालीजी का बराना. क्षेत्र में शनिवार को हुईबारिश के बाद झालीजीका बराना- बूंदी मार्ग रविवार को दूसरे दिन भी बंद रहा।पुलिया पर लगभग १२ फीट पानी चल रहा है।ऐसे से आसपास के दो दर्जन गांवों का सम्पर्क जिला मुख्यालय कटा हुआ है। लोगों को कापरेन केशवरायपाटन होते हुए बूंदी पहुंचना पड़ रहा है। वहीं नदी में पानी की आवक अधिक होने से आसपास के खेतों में बोयी गईफसल जलमग्न हो गई है।
नमाना श्यामू मार्ग १८ घण्टे से बंद
नमाना. लगातार हो रही बरसात से नमाना के तलाई मोहल्ले में पानी भर गया। जिससे यहां पर सड़कों पर एक से डेढ़ फीट पानी भर गया है। सड़कों पर पानी ही नजर आ रहा है। तेजाजी मंदिर के निकट लगा हैंडपंप बरसात के पानी से डूबने वाला है। आदिवासी छात्रावास की ओर जाने वाले रास्ते पर दो फीट पानी भरा है। ऐसे में छात्रावास में रहने वाले बच्चों व मोहल्ले के लोगों को निकलने में परेशानी आ रही है। ग्रिड के निकट की बस्ती में भी पानी भरा है। उधर बरसात के कारण नमाना श्यामू मार्ग बीते 18 घंटों से बंद है। हालांकि रविवार सुबह बरसात का दौर थम गया, लेकिन पानी की आवक लगातार बढ़ रही है। जिससे घोड़ा पछाड़ नदी पर बनी पुलिया पर पानी की आवक होने से मार्ग अवरुद्ध है। वहीं नमाना आमली मार्ग पर बिडोली खाळ में पानी आने से नमाना आमली मार्ग भी बीते 14 घंटों से बंद है। जिससे 4 गांव के लोगों को गोपाल निवास होकर नमाना आना पड़ रहा है। नमाना बूंदी मार्ग पर करजूना की पुलिया के ऊपर से पानी बंद होने के बाद सुबह 5 बजे रास्ता बहाल हो गया। नमाना बरूंधन मार्ग पर घोड़ा पछाड़ नदी की पुलिया पर शनिवार देर रात पानी उतरने के बाद रास्ता बहाल हो गया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned