बच्चों को सड़क पर खिला रहे पोषाहार

हालीहेड़ा में आंगनबाडी केन्द्र तक जाने वाले रास्ते पर कीचड़ होने से बच्चों को परेशान होना पड़ रहा है। बारिश में बच्चों को सड़क के किनारे ही पोषाहार खिलाना पड़ रहा है।

By: Devendra

Published: 24 Jul 2018, 03:37 PM IST

केशवरायपाटन. बूंदी. हालीहेड़ा गांव में आंगनबाडी केन्द्र तक जाने वाले रास्ते पर कीचड़ होने से बच्चों को परेशान होना पड़ रहा है। बारिश में बच्चों को सड़क के किनारे ही पोषाहार खिलाना पड़ रहा है।

ग्रामीण बृृजेश गुर्जर, राकेश मीणा, कन्हैयालाल गुर्जर, जगदीश मीणा व मुकेश कुमार ने बताया कि केन्द्र वाले मार्ग पर बारिश के कारण एक से दो फीट कीचड़ हो रहा है। इससे बच्चे केन्द्र तक नहीं पहुंच पा रहे हैं। इस समस्या से ग्राम पंचायत को अवगत करवा दिया है, लेकिन ध्यान नहीं दिया जा रहा है।
ट्रकों की हड़ताल से जिले में दिहाड़ी मजदूरों पर संकट

बूंदी. ट्रांसपोर्ट व्यवसायियों की सरकार की दमनकारी नीतियों के विरोध में हड़ताल सोमवार को चौथे दिन भी जारी रही। हड़ताल के चलते सिलोर रोड हाई-वे पर ट्रकों की रेलमपेल मची रही। छह सूत्रीय मांगों को लेकर हड़ताल पर उतरे ट्रक यूनियन के पदाधिकारियों ने सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन भी किया। इधर, हड़ताल के चलते यहां पर दिहाड़ी मजदूरों की रोजी रोटी पर संकट आ गया।

अध्यक्ष स्वरूप सिंह हाड़ा व कोषाध्यक्ष कमर खान ने बताया कि हड़ताल के दौरान सिलोर रोड हाईवे के यहां से निकलने वाले वाहनों को रोका जा रहा है। उनसे हड़ताल में शामिल होने का समर्थन मांगा जा रहा है। ऐसे में सभी गाडिय़ों पर हड़ताल के स्टीकर चस्पा किए जा रहे हैं।

ट्रकों की हड़ताल का असर व्यापारियों पर दिखने लगा है। गोदामों पर दूर-दराज के व्यापारियों का माल नहीं उठने से समस्या खड़ी हो रही है। ट्रकों की हड़ताल का असर मंडी व व्यापार परिवहन पर पड़ रहा है।

एसोसिएशन के सचिव जाहिद हुसैन ने बताया कि डीजल की कीमतें कम करने, टोल बैरियर भारत मुक्त हो, ट्रांसपोर्ट व्यवसाय पर टीडीएस समाप्त हो आदि मांगे शामिल है। सरकार जब तक मांगें नहीं मान लेती हड़ताल जारी रहेगी। इस दौरान राजू छाबड़ा, मोहन स्वामी, प्रगट सिंह, महावीर गुर्जर आदि यूनियन के सदस्य मौजूद थे।

Devendra
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned