पानी के लिए सडक़ पर जाम, तो हाथापाई पर उतरे लोग

बूंदी-माटूंदा सडक़ पर जाम लगा दिया। गुस्साए लोगों नेे करीब एक घंटे तक सडक़ पर वाहनों की आवाजाही थाम दी।

By: धीरज शर्मा

Published: 24 Jul 2018, 12:33 PM IST


बूंदी. शहर के माटूंदा रोड वार्ड 39 (गैस गोदाम के पीछे वाली गली) के बाशिंदों ने पेयजल समस्या व कीचड़ से हो रही परेशानी को लेकर सोमवार सुबह बूंदी-माटूंदा सडक़ पर जाम लगा दिया। गुस्साए लोगों नेे करीब एक घंटे तक सडक़ पर वाहनों की आवाजाही थाम दी। इससे कई जने जाम में फंस गए। सुबह स्कूलों के लिए निकले शिक्षक और दुधिए भी जाम में फंस गए। जाम के दौरान गुस्साए लोगों की वाहन निकालने के दौरान प्रदर्शन कर रहे लोगों से झड़प भी हुई। मौके पर पहुंची पुलिस ने समझाइश की तब मामला शांत हुआ।
प्रदर्शन कर रहे लोगों ने बताया कि कॉलोनी में बीते एक माह में सिर्फ दो-तीन दिन ही पानी नसीब हुआ। ऐसे में पेयजल की समस्या से जूझना पड़ रहा है। दूर-दराज से पानी लाना पड़ रहा है। कई बार शिकायत करने के बाद भी समस्या का समाधान नहीं हो सका। यही नहीं बरसात के चलते कॉलोनी में कीचड़ जमा हो गया। ऐसे में घरों से निकलना मुश्किल हो गया।आलम ऐसा बना हुआ है कि सुबह स्कूल जाने में बच्चों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। जबकि अभी तो बारिश शुरू ही हुई है। उन्होंने बताया कि इस मामले में जनप्रतिनिधि भी उनकी मदद नहीं कर रहे। मजबूरी में यहां पर जाम लगाना पड़ा।


हाथापाई की आई नौबत, लगाए धक्के
प्रदर्शन कर रहे लोगों ने सडक़ों पर वाहनों को रोक दिया।इससे लंबी कतार लग गई।वाहन चालक जाम के बीच में से गाडिय़ों को निकालने लगे ऐसे में प्रदर्शन कर रहे लोगों ने विरोध शुरू कर दिया। इससे जाम में फंसे लोगों का गुस्सा फूट पड़ा। दुधियों ने कहा कि शहर में समय पर दूध नहीं पहुंचेगा और नुकसान झेलना पड़ेगा। लेकिन जाम लगाकर खड़े युवक हटने को तैयार नहीं हुए। इससे दोनों के बीच टकराव हुआ और मामला हाथापाई तक पहुंच गया। जाम में फंसे लोगों ने धक्का-मुक्की कर दी।


थाने पहुंचे, कार्रवाई की मांग
दोनों ही पक्ष के लोग थाने में पहुंचे। यहां प्रदर्शन कर रही महिलाओं ने उनके साथ अभद्रता की बात कही। वहीं जाम में फंसे लोगों ने सडक़ जाम करने वालों के खिलाफ मामला दर्ज करने की मांग उठाई।

Show More
धीरज शर्मा
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned