पुलिस की सतर्कता से अपह्रत होने से बची बालिका

रेलवे पुलिस की सतर्कता से बुधवार को मध्यप्रदेश के मंदसौर निवासी एक बालिका अपहृत होने से बच गई।

By: Devendra

Published: 10 May 2018, 03:36 PM IST

बूंदी. रामगंजबालाजी. रेलवे पुलिस की सतर्कता से बुधवार को मध्यप्रदेश के मंदसौर निवासी एक बालिका अपहृत होने से बच गई। पुलिस ने बालिका के पिता को सूचना देकर अपहरण करने वाले युवकों की तलाश शुरू कर दी। रेलवे पुलिस के सहायक उपनिरीक्षक मुकेश कुमार ने बताया कि ५ बजकर ४३ मिनट पर लिंक एक्सप्रेस ट्रेन बूंदी रेलवे स्टेशन पर पहुंची। इसी दौरान एक बालिका पानी के लिए जोर से चिल्लाते हुए ट्रेन से नीचे उतरी।

बेसुध बालिका को रोते बिलखते देख स्टेशन पर मौजूद रेलवे पुलिस के हेड कांस्टेबल प्रेम प्रताप चौधरी व कांस्टेबल नीरज कुमार मीणा वहां पहुंचे और बालिका को संभाला। बालिका ने अपना अपहरण होने की जानकारी दी। इस पर मामले को गम्भीरता से लेते हुए ट्रेन में युवकों की तलाश शुरू की, लेकिन ट्रेन रवाना हो गई। पूछताछ के बाद पुलिस ने बालिका के पिता को सूचना कर दी।

ऐसे हुआ घटनाक्रम
उपनिरीक्षक मुकेश ने बताया कि मध्यप्रदेश मंदसौर के वाईडी नगर थाना इलाके की संजय नगर कॉलोनी निवासी तस्मिया (१२) फारुख कक्षा चार में पढ़ती है। वो बुधवार दोपहर करीब एक बजे घर के बाहर खेल रही थी। तभी अचानक से तीन चार युवक आए और उसे मुंह पर कपड़ा डालकर कार में बिठाकर ले गए।

बेसुध हालत में उन्होंने रेलवे स्टेशन पर दूसरे युवकों के साथ ट्रेन में बिठाकर रवाना कर दिया। बूंदी रेलवे स्टेशन से पहले बालिका को होश आ गया और गर्मी में प्यास लगने से पानी के लिए चिल्लाने लगी। इस दौरान एक युवक ने उसे चांटा मार चुप करा दिया। बूंदी रेलवे स्टेशन पर ट्रेन के रुकने के बाद बालिका चिल्लाते हुए नीचे उतर गई। इसी दौरान रेलवे पुलिस के जवान पहुंच गए।

पोषाहार में अनियमितता, दो शिक्षक निलंबित

बूंदी. देई क्षेत्र के भजनेरी राजकीय उच्च माध्यामिक विद्यालय में लोडिंग वाहन में पोषाहार भरकर ले जाने के मामले में दो शिक्षकों को बुधवार को जिला शिक्षा अधिकारी ने निलंबित कर दिया। निलंबन काल में इनका मुख्यालय राजकीय उच्च माध्यामिक विद्यालय लालपुरा रहेगा। वहीं स्कूल के प्रधानाचार्य के खिलाफ भी कार्रवाई के लिए स्कूल निदेशक को पत्र भेजा है।

जानकारी के अनुसार गत दिनों भजनेरी राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय से स्कूली बच्चों का पोषाहार ले जाते समय ग्रामीणों ने शिक्षक मदनलाल नागर व रामरतन नागर को रंगे हाथों पकड़ा था। मामला बढ़ता देख शिक्षक और वाहन चालक मौका देखकर फरार हो गए थे।

ग्रामीणों ने बच्चों के पोषाहार में अनियमितता की शिकायत व जांच की मांग की थी। इस मामले को जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक तेज कंवर ने गंभीर मानते हुए जांच अधिकारी नियुक्त कर एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश दिए थे। जांच रिपोर्ट मिलने के बाद दोनों शिक्षकों को निलम्बित कर दिया गया है।

Show More
Devendra
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned