वन्यजीव गणना के लिए जरूरी होगी आरटी-पीसीआर रिपोर्ट

रामगढ़ अभयारण्य में 26 को होगी वन्यजीव गणना, तैयारियां पूरी, वॉलंटियर्स से जांच कराने को कहा

By: Abhishek ojha

Published: 20 May 2021, 10:17 PM IST

बूंदी. कोरोना संक्रमण के बीच 26 मई को वाटर प्वाइंट वन्यजीव गणना की जाएगी। सब कुछ पहले जैसा ही होगा, लेकिन कोरोना संक्रमण के चलते इस बार वॉलंटियर्स की कोरोना जांच (आरटी-पीसीआर) जरूरी कर दी गई है। इसके लिए वॉलंटियर्स की जांच उन्हें ही करानी होगी। रिपोर्ट विभाग को देनी होगी। रिपोर्ट देने के बाद ही वह गणना में शामिल किया जाएगा।
72 घंटे से पुरानी नहीं हो रिपोर्ट
विभाग की ओर से जारी निर्देशों के अनुसार वॉलंटियर्स की जांच रिपोर्ट 72 घंटे से अधिक पुरानी नहीं होनी चाहिए। 26 मई को वन्यजीव गणना के चलते अब उसी हिसाब से वॉलंटियर्स को जांच करानी होगी।
बारिश के कारण था असमंजस
गणना से पहले तौकते चक्रवात के चलते वन्यजीव गणना को लेकर असमंजस बना हुआ था। बारिश के कारण जगह-जगह पानी भर जाने से गणना प्रभावित होने का अंदेशा था। ऐसे में गणना की तिथि आगे बढ़ाने को लेकर भी विचार चल रहा था। हालांकि बूंदी में अधिक बारिश नहीं होने से गणना प्रभावित होने की स्थिति नहीं बनी है। इसके चलते 26 मई को ही गणना कराने की तैयारी चल रही है।
फोटो ट्रेप कैमरे भी लेंगे उपयोग में
वन्यजीव गणना में फोटो ट्रेप कैमरे भी उपयोग में लिए जाएंगे। रामगढ़ विषधारी अभयारण्य में 18 फोटो ट्रेप कैमरे लगाए जाएंगे। इसके लिए जगह भी चिह्नित की गई है। इसके साथ ही प्रत्येक प्वांइट पर एक कर्मचारी के साथ एक वॉलंटियर को बैठाया जाएगा। करीब 33 वाटर प्वाइंट पर गणना की जानी है।
...............
26 मई को वन्यजीव गणना की जाएगी। इसके लिए तैयारी कर ली गई है। वॉलंटियर्स को आरटी-पीसीआर जांच रिपोर्ट साथ में रखनी होगी।
- तरुण मेहरा, सहायक वन संरक्षक, रामगढ़ विषधारी अभयारण्य, बूंदी

Abhishek ojha
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned