उठाव नहीं होने से धरती पुत्र की उम्मीदों पर पड़े ओले

मंडी में लगा अव्यवस्थाओ का जाम गेहूं से ठसाठस खरीद केंद्र, उठाव ठप

By: Suraksha Rajora

Published: 25 Apr 2018, 03:39 PM IST

बूंदी. बूंदी की पुरानी कृषि उपज मंडी में चल रहे सरकारी खरीद केंद्र में खरीदे हुए गेहूं का उठाव नहीं हो रहा। मंडी परिसर ठसाठस हो गया। अव्यवस्थाओं के चलते केंद्र जाम हो गया।जिसके चलते किसानों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। मंडी में गेहूं लेकर पहुंच रहे किसान अपनी तुलाई का इंतजार कर रहे हैं। ठसाठस हुए परिसर के बाद अब खरीद ठप हो गई है। इधर, एफसीआई के अधिकारियों ने गेहूं का जल्द उठाव शुरू होने की बात कही है।

Read More: ‘फोटो खेंच कर रख लेना फिर देखना सूरत...’ किसने कहा था...जानने के लिए पढ़े यह खबर

केंद्र में बीते कुछ दिनों से गेहूं की बड़ी मात्रा में आवक हो गई। पहले से ठसाठस मंडी में अब आने वाले किसानों के गेहूं को रखने की ठोर नहीं रही। जिसके चलते उनके गेहूं की तुलाई समय पर नहीं हो पा रही। किसान खरीद केंद्र के चक्कर लगाने को मजबूर हो गए। नहीं हो रही तुलाई, किसान परेशान मंडी में किसानों के माल की तुलाई नहीं होने से रोष बढ़ता जा रहा है।

Read More: हाल ए अस्पताल: हवा खानी है तो घर से लाओ पंखा...बीमारी से ज्यादा गर्मी से परेशान मरीज

किसानों ने बताया कि मंडी में गेहूं की तुलाई को लेकर सुबह ही पहुंच रहे, लेकिन दोपहर तक भी तुलाई तो दूर गेहूं की गुणवत्ता जांच के लिए भी कोई नहीं आ रहा।
डूंगरपुर व किशनगढ़ जा रहे गेहंूसरकारी खरीद केंद्र ठसाठस होने व खरीदे हुए गेहूं का उठाव नहीं होने से अब डंूगरपुर व किशनगढ़ भेज रहे हैं। जिससे यहां भार कम हो सके।

मी बताई, किया निरस्त

केंद्र में बीती रात किसानों का गेहूं लेकर आने का सिलसिला शुरू हो गया था। मंडी ठसाठस हो गई। तीखा बरड़ा निवासी रामराज ने बताया कि रात को गेहूं लेकर पहुंच गया था। सुबह गेहूं देखे तो नमी होने से निरस्त कर दिए।फिर बाद में ढेर करवा दिए, लेकिन अभी तक तुलाई को लेकर कोई जानकारी नहीं मिल रही।

जांचे रिकार्ड, देखी व्यवस्था

भारतीय खाद्य निगम के क्षेत्रीय कार्यालय जयपुर के निरीक्षण अधिकारी भरत सिंह मीणा व मैनेजर दुलीचंद्र मीणा मंगलवार को बूंदी खरीद केंद्र पर पहुंचे। उन्होंने यहां एफसीआई अधिकारियों से व्यवस्था के बारे में जानकारी लेकर रिकार्ड जांचा। खरीद केंद्र का निरीक्षण। किसानों के भुगतान की व्यवस्था और गुणवत्ता की भी जानकारी ली।यार्ड में ही कर रहे जमाखरीद केंद्र के अधिकारी ने बताया कि खरीदे हुए गेहूं को यार्ड में ही जमा कर रहे हैं। करीब ६० हजार कट्टे जमा हो चुके। इसे अब हटाने की प्रक्रिया शुरू कर दी।

Suraksha Rajora
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned