स्वीकृत राशि अटकी तो धीमी हुई सडक़ निर्माण की चाल

Narendra Agarwal | Updated: 15 May 2019, 05:30:56 PM (IST) Bundi, Bundi, Rajasthan, India

राज्य राजमार्ग -34 की चौड़ाई बढ़ाने के लिए तीन माह से सडक़ खुदी पड़ी है।

नैनवां. राज्य राजमार्ग -34 की चौड़ाई बढ़ाने के लिए तीन माह से सडक़ खुदी पड़ी है। राज्य सरकार सडक़ की चौड़ाई बढ़ाने के लिए सार्वजनिक निर्माण विभाग को स्वीकृत राशि उपलब्ध नहीं करा रही। जिससे कार्य गति नहीं पकड़ पा रहा। निर्माण विभाग के अधिकारिक सूत्रों ने बताया कि ठेकेदार ने अब तक तीन करोड़ का कार्य कर दिया, जबकि अभी तक उसे 75 लाख का ही भुगतान किया गया है। सरकार से राशि नहीं मिलने से ठेकेदार ने सडक़ की खुदाई कर कार्य की गति रोक दी। ठेकेदार कम्पनी ने मशीनें व अन्य संसाधन खड़े कर रखे हैं। बूंदी जिला में सुंथली गांव से खटकड़ तक की जर्जर पड़ी 48 किमी सडक़ की चौड़ाई बढ़ाने के लिए 28 करोड़ 90 लाख 8 0 हजार रुपए की राशि स्वीकृत की गई थी। इसके तहत सुवानिया, नैनवां, देई, फूलेता गांवों में टुकड़ों में 218 5 मीटर सीसी सडक़ का निर्माण होगा। 48 किमी की दूरी में 24 पाइप कल्वर्ड पुलियाओं का भी निर्माण होना है।
रोजाना लग रहा जाम
पहले ही सडक़ काफी क्षतिग्रस्त हो रही थी। अब खुदाई कर देने से सडक़ की स्थिति और बिगड़ गई है। सुंथली गांव से जेतपुर तक सडक़ खुदी पड़ी है। सडक़ पर डामर नहीं होने से वाहनों के आवागमन से धूल उड़ रही है। वाहनों को साइड नहीं मिल पाने से दिन में कई बार जाम लगने की स्थिति हो रही है। ऐसे में नैनवां व देई कस्बों के लोगों को एनएच 148 डी से हिण्डोली होकर कोटा जाना पड़ रहा है। इससे नैनवां के लोगों को बीस किमी और देई के लोगों को 35 किमी की अधिक दूरी पार करनी पड़ती थी। दोनों कस्बो के अलावा सुंथली , धीरपुर, सुवानियां, फूलेता, जेतपुर, पीपल्या, तलवास, मोतीुपरा, लुहारपुरा के लोगों को क्षतिग्रस्त सडक़ से ही आना जाना पड़ रहा है।
-राज्य सरकार से स्वीकृत राशि नहीं मिल पाने से कार्य गति नहीं पकड़ पा रहा। ठेकेदार अब तक तीन करोड का कार्य कर चुका है, जबकि उसे 75 लाख का ही भुगतान हो पाया है। फिर भी ठेकेदार से कार्य की गति बढ़ाने को कह चुके हैं।
आरके शर्मा, अधिशासी अभियंता, सार्वजनिक निर्माण विभाग



Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned