टोल शुरू होने से पहले ही सड़क की फूली सांसें

टोल शुरू होने से पहले ही सड़क की फूली सांसें

Nagesh Sharma | Publish: Sep, 08 2018 10:42:38 PM (IST) Bundi, Rajasthan, India

भीलवाड़ा, बूंदी व टोंक जिले की सीमाओं को आपस में जोडऩे के लिए भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण की ओर से गुलाबपुरा से उनियारा तक बनाए दो लेन हाइवे के टोल प्लाजा शुरू होने से पहले ही सड़क की सांसें फू ल गई है।

वाहन चालकों को आवाजाही में हो रही परेशानी
बसोली. भीलवाड़ा, बूंदी व टोंक जिले की सीमाओं को आपस में जोडऩे के लिए भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण की ओर से गुलाबपुरा से उनियारा तक बनाए दो लेन हाइवे के टोल प्लाजा शुरू होने से पहले ही सड़क की सांसें फू ल गई है। जगह-जगह सड़क में गुब्बारे की तरह डामर फू ल कर ऊपर आ गया है। अब निर्माण कंपनी ने फि र से सड़क की मरम्मत का कार्य शुरू किया है। भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण की ओर से 700 करोड रुपए की अधिक की लागत से वर्ष 2015 में 211 किलोमीटर से अधिक की लंबाई की सड़क का निर्माण कार्य शुरू किया गया था। वर्ष 2018 में सड़क का निर्माण कार्य पूरा हो गया। अभी से सड़क में जगह-जगह डामर उखडऩे से निर्माण कंपनी को ठीक करने में पसीने छूटने लगे हैं। बूंदी जिले में शकरगढ़ से एनएच 52 और हिंडोली से उनियारा तक सड़क क्षतिग्रस्त होने से वाहन चालकों को आवाजाही में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।
तीन टोल प्लाजा होंगे शुरू
भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण बूंदी की ओर से तीन टोल प्लाजा शुरू करने की योजना है। इसके तहत एक टोल प्लाजा नैनवां-उनियारा के बीच, दूसरा जहाजपुर-बसोली के बीच और तीसरा गुलाबपुरा के निकट लगाया जाएगा। इनसे सड़क निर्माण की राशि वसूल की जाएगी। इसके लिए प्राधिकरण ने तैयारियां शुरू कर दी है।
दूसरी बार हो रही मरम्मत
गुलाबपुरा से उनियारा के बीच बनाई गई सड़क का निर्माण कंपनी ने दूसरी बार मरम्मत कार्य शुरू किया है। इससे पहले वर्ष 2017 में किया गया डामर भी पूरी तरह उखड़ गया था। इस पर निर्माण कंपनी ने दुबारा डामर किया था। अब फि र से डामर उखड़ गया है। इससे निर्माण कंपनी के लिए मुसीबत खड़ी हो गई है।
गुलाबपुरा से उनियारा के बीच बनाए गए हाईवे की जांच के लिए जिला प्रशासन ने कमेटी बनाई थी, लेकिन अनियमितता की जांच ठंडे बस्ते में डाल दी गई। प्राधिकरण के अधिकारियों को मौके पर बुलाकर शिकायत की गई थी, लेकिन निर्माण कार्य में सुधार नहीं करने से सड़क की स्थिति गंभीर हो गई है। ।
दीक्षांत सोनी, जजावर
बूंदी जिले के सबसे अधिक पिछड़े क्षेत्र बसोली एवं नैनवां तहसील के गांवों को सड़क के निर्माण से आवाजाही में बहुत बड़ी राहत मिली है, लेकिन सड़क में घटिया निर्माण कार्य होने से स्थिति अभी से खराब होने लगी है, जो चिंता का विषय है।
दिनेश शर्मा, ब्लॉक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष हिंडोली
निर्माण के बाद कुछ जगह पर सड़क क्षतिग्रस्त हो गई है, जिसका दोबारा कार्य शुरू किया गया है। जहां-जहां सड़क खराब हो रही है वहां पर दुबारा डामर बिछाने का कार्य किया जा रहा है।
सुशील कुमार, मैनेजर निर्माण कम्पनी

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned