वन्यजीवों की आवाजाही के बीच इस गांव की महिलाएं पानी के लिए उठा रही खतरा, रोजाना करनी पड़ रही मशक्कत

pankaj joshi | Publish: Jun, 16 2019 07:00:00 AM (IST) Bundi, Bundi, Rajasthan, India

फ्लास्तूनी गांव में हैंडपंप व नलकूप खराब होने से पेयजल संकट का सामना करना पड़ रहा है।

भण्डेडा. फ्लास्तूनी गांव में हैंडपंप व नलकूप खराब होने से पेयजल संकट का सामना करना पड़ रहा है। महिलाओं को रोजाना एक किमी दूर जंगल से पानी ढोकर लाना पड़ रहा है। ग्राम पंचायत मरां के फ्लास्तूनी गांव में तीन मोहल्ले हैं। इन मोहल्लों में लगे हैंडपम्प व नलकूप करीब पांच माह से खराब हैं। यहां पर पेयजल का अन्य कोई स्रोत नहीं है। ऐसे में रामगढ़ अभयारण्य की सीमा में एक किमी दूर नला के महादेव के कुंड पर पहुंचकर पानी जुटाना पड़ता है। महिलाओं ने बताया कि जंगल होने से पानी के लिए समूह बनाकर जाना पड़ता है। कुंड के आसपास वन्यजीवों की आवाजाही से खतरा बना रहता है। इस सम्बंध में ग्राम पंचायत व जलदाय विभाग को अवगत करवाया जा चुका है। इसके बावजूद बंद पडे हैन्डपम्प को दुरुस्त नहीं किया जा रहा है।
-गांव में भू जलस्तर गहरा जाने से हैंडपम्पों व नलकूपों में पानी रीत गया है। पानी की समस्या से जलदाय विभाग को अवगत करवाया जा चुका है।।
हंसराज गुर्जर, सरपंच, मरां
-गांव में पानी के लिए टैंकर स्वीकृत थे, लेकिन टैंकर की व्यवस्था नहीं हो पाई। हैंडपम्प खराब हैं तो ठीक करवाए जाएंगे।
दीपक कुमार झा, अधिशासी अभियंता, जलदाय विभाग

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned