दरगाह ए हकीमी में जियारत के लिए आईडी कार्ड दिखाने पर मिल रहा प्रवेश

- गेट पर थर्मल स्क्रीनिंग
- जियारत के लिए पहुंच रहे समाजजन

By: Amiruddin Ahmad

Published: 29 Jun 2020, 12:01 AM IST

बुरहानपुर. बोहरा समाज की दरगाह ए हकीमी में जियारत करने के लिए समाजजनों का पहुंचना शुरू हो गया। दरगाह में प्रवेश करने से पहले समाजजनों को अपनी यूनिक आईडी दिखाकर रजिस्ट्रेशन करना होगा।गेट पर थर्मल स्क्रीनिंग के बाद ही जियारत करने के लिए प्रवेश दिया जा रहा है। दरगाह परिसर में पोस्टरों के माध्यम से कोरोना संक्रमण से बचाने का संदेश भी दे रहे है।
अंजुमन जक्वी जमात कमेटी के प्रवक्ता तफज्जुल हुसैन मुलायमवाला ने बताया की बोहरा समाज के पवित्र धर्मिक स्थल दरगाह ए हकीमी में जयरिनों का आना शुरू हो गया है। प्रशासन की निर्धारित शर्तो को पूरा करने के बाद ही जयरिनों को प्रवेश दिया जा रहा है। दरगाह ए हकीमी प्रबंधक शेख जुजर भाई पटनवाला ने बताया कि दरगाह में हर आने वाले जायरीन की दरगाह परिसर में थर्मल स्क्रीन, हाथों को सेनेटाइजर, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराया जा रहा है। शहर आमिल शेख अली असगर भाई साहब ने सभी समाजजनों से कोरोना संक्रमण से बचने एवं सोशल डिस्टेंसिग, मास्क सेनेटाइजर का इस्तेमाल करने की अपील की।
यूनिक आईडी देखने के बाद ही मिल रहा प्रवेश
दरगाह प्रबंधक शेख जुजर भाई ने बताया कि संक्रमण से बचाव के उद्देश्य से दरगाह में ज्यादा भीड़ भाड़ न हो इसका भी ख्याल रखा जा रहा है। समाजजनों को जारी आईटीएस यूनिक कार्ड के माध्यम से आने से पहले रजिस्ट्रेशन कराना होगा। उन्हें दरगाह में जियारत करने के समय तय करना होगा। दरगाह में आते ही दरगाह में मौजूद हकीमी गाड्र्स एवं तुलेबात की टीम थर्मल स्क्रीनिंग कर रही है, जिसके बाद यूनिक कार्ड नंबर डालने के बाद ही सुरक्षा व्यवस्था में लगे लोगों द्वारा उन्हें प्रवेश दिया जा रहा है। मुस्तफा पूनावाला ने बताया कि दरगाह में जियारत करने वाले सभी लोगों को सोशल डिस्टेंसिग का पालन करने के साथ ही परिसर में पोस्टरों के माध्यम से कोरोना संक्रमण से बचाने के संदेश भी दे रहे है।

Amiruddin Ahmad
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned