scriptBurhanpur declared a water scarcity area, water level dropped | बुरहानपुर जल अभाव ग्रस्त क्षेत्र घोषित, गिरा जल स्तर | Patrika News

बुरहानपुर जल अभाव ग्रस्त क्षेत्र घोषित, गिरा जल स्तर

भूजल स्तर गिरा, 75 हैंडपंप ने तोड़ा दम, 35 नए कुएं खुदेंगे, बुरहानपुर जल अभाव ग्रस्त क्षेत्र घोषित
- जल संकट की बढ़ी चिंता

बुरहानपुर

Published: March 04, 2022 02:05:25 pm

बुरहानपुर. पानी लगातार पाताल में जा रहा है। 200 फीट तक जल स्तर गिरने से इसका असर ट्यूबेवल और कुओं पर पड़ा है। 2600 कुओं में से 75 कुएं बंद पड़ गए हैं। धूलकोट के देशमुख फालिया में तो लोग डेम से पानी लाने को मजबूर है। जबकि सुक्ता में भी जलसंकट ज्यादा है। ऐसे में कलेक्टर ने अब 35 से अधिक नए कुएं खोदने के आदेश दिए हैं, जहां पानी की उपलब्धता हो सके।
गर्मी के मौसम में भू जल स्तर लगातार गिर रहा है। 150 फीट पर लगने वाला पानी अब 400 फीट पर भी नहीं लग रहा है। इससे 75 हैंडपंपों ने दम तोड़ दिया है। फिर भी पीएचई विभाग का कहना है कि कोई भी गांव पूरी तरह ड्राय स्थिति में नहीं है, कही न कही से पानी की व्यवस्था कर रहे हैं। जबकि हालात मार्च के पहले सप्ताह में बिगडऩे लगे हैं।
ऐसी हैस्थिति-
260 हैंडपंप में से 75 बंद
15 पाइप की जगह अब 50 पाइप लग रहे ट्यूबवेल में
80 से 100 फीट पर है सामान्य स्थिति

Burhanpur declared a water scarcity area, water level dropped
Burhanpur declared a water scarcity area, water level dropped

और इधर
धूलकोट के देशमुखी फालिया मे ग्रामीणों को पीने का पानी नहीं मिल रहा है। लगभग 45 परिवार डेम का रुका हुआ पानी भरने को मजबूर है। ग्रामीणों ने बताया कि पानी की समस्या से निजात पाने के लिए 25 साल पहले खनन करवाया था। लेकिन अभी कुछ दिन पहले स्कूल में बच्चों के लिए हाथ धुलाई प्लेटफार्म बनाने वाले ठेकेदार ने हेडपंप के आधे भाग को निकालकर बोरवेल में मोटर पंप डालकर स्कूल में कनेक्शन कर दिया है। जिसके चलते अब ग्रामीणों के सामने जलसंकट की स्थिति बन गई। ग्रामीणों ने इस समस्या के निराकरण की मांग की।

सुक्ता में छह बोर फेल
सुक्ता गांव में भी जलसंकट है। यहां पांच से छह बोर कराने के बाद भी पानी नहीं निकला है। इससे और चिंता बढ़ गई है। कलेक्टर ने पीएचई विभाग को इस समस्या के निराकरण के लिए आदेश दे दिए हैं। साथ ही नए नलकूप खनन पर भी रोक लगा दी है।
जलसंकट से निपटने ऐसी है पूरी योजना
कलेक्टर प्रवीणसिंह ने बताया कि गर्मी में जल समस्या आने लगी है और भूमिगत जल स्तर गिर रहा है। जो पानी के सोर्स है उसके आसपास किसानों ने बोर करने से जल संकट गिरा है। इसलिए नलकूप खनन पर रोक लगा दी है। अगले तीन माह में हमारी प्राथमिकता है कि लोगों को पीने का पानी मिले। चेक डेम, स्टॉप डेम बनाएंगे, ताकि वाटर लेवल बना रहे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

यहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतियूपी में घर बनवाना हुआ आसान, सस्ती हुई सीमेंट, स्टील के दाम भी धड़ामName Astrology: पिता के लिए भाग्यशाली होती हैं इन नाम की लड़कियां, कहलाती हैं 'पापा की परी'इन 4 राशियों के लड़के अपनी लाइफ पार्टनर को रखते हैं बेहद खुश, Best Husband होते हैं साबितजून में इन 4 राशि वालों के करियर को मिलेगी नई दिशा, प्रमोशन और तरक्की के जबरदस्त आसारमस्तमौला होते हैं इन 4 बर्थ डेट वाले लोग, खुलकर जीते हैं अपनी जिंदगी, धन की नहीं होती कमी1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्ससंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजर

बड़ी खबरें

'तुम्हारे कदम से मेरी आँखों में आँसू आ गए', सिंगला के खिलाफ भगवंत मान के एक्शन पर बोले केजरीवालसमलैंगिकता पर बोले CM नीतीश कुमार- 'लड़का-लड़का शादी कर लेंगे तो कोई पैदा कैसे होगा'SSC घोटाले के बाद अब बंगाल में नर्सों की नियुक्ति में धांधली, विरोध प्रदर्शन के बीच पुलिस और स्टूडेंट्स में हुई झड़पसचिन दिल्ली से जयपुर की फ्लाइट में बैठे और पहुंच गए अहमदाबाद, ऐसे हुआ गड़बड़झालाअमित शाह और IAS पूजा सिंहल की फोटो शेयर करने वाले फिल्ममेकर को कोर्ट से नहीं मिली राहतअखिलेश ने तय किया राज्यसभा के उम्मीदवारों का नाम, जल्द करेंगे नामांकनHoney Trap: पाकिस्तानी सेना का लव जेहाद, भारतीय जवानों के लिए बना फांसहार्दिक पटेल पर कांग्रेस पर करारा वार, पूछा- कांग्रेस के नेताओं की भगवान श्रीराम से क्या दुश्मनी, हिंदुओं से इतनी नफरत क्यों?
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.