बुरहानपुर जिला अस्पताल और खंडवा मेडिकल कॉलेज का नाम स्व. नंदकुमार के नाम से जाना जाएगा

- बोले यह नंदू भैया की स्मृति के रूप में जाना जाएगा
- प्रदेश सरकार के एक दर्जन के करीब कैबिनेट मंत्री सहित केंद्रीय मंत्री पहुंचे
- भाजपा के झंडे में लपटा पार्थिव शरीर, शव पर तिरंगा भी रखा

By: ranjeet pardeshi

Published: 04 Mar 2021, 11:24 AM IST

बुरहानपुर जिला अस्पताल और खंडवा मेडिकल का नाम स्व. नंदकुमार के नाम से जाना जाएगा
- बोले यह नंदू भैया की स्मृति के रूप में जाना जाएगा
- प्रदेश सरकार के एक दर्जन के करीब कैबिनेट मंत्री सहित केंद्रीय मंत्री पहुंचे
- भाजपा के झंडे में लपटा पार्थिव शरीर, शव पर तिरंगा भी रखा

बुरहानपुर. खंडवा संसदीय क्षेत्र के लोकप्रिय सांसद दिवंगत नंदकुमार सिंह चौहान की देह बुधवार को पंचतत्व में विलीन हो गई। उनके बेटे हर्षवर्धन ने उन्हें मुखाग्नि दी। इससे पहले गृह ग्राम शाहपुर में उनकी अंतिम यात्रा निकाली गई। जब सीएम ने दिवंगत सांसद की पत्नी दुर्गेश्वरी को सांत्वना दी तो उनके आंसू देख खुद भी फफक पड़े।
श्रद्धांजलि सभा में मुख्यमंत्री ने कहा खंडवा का मेडिकल कॉलेज, बुरहानपुर का जिला अस्पताल, 100 एकड़ जमीन पर केला अनुसंधान केंद्र प्रस्तावित है उसका नाम और नगर परिषद का नाम स्व. नंदकुमारसिंह चौहान के नाम से जाना जाएगा, यह उनकी स्मृति होगी। उनके पैतृक गांव में स्व. नंदकुमार की प्रतिमा भी लगेगी। अंतिम यात्रा में केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्रसिंह तोमर, राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया, केंद्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष बीडी शर्मा, कैबिनेट मंत्री उषा ठाकुर, केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद पटेल सहित कई दिग्गज शामिल हुए।
शोक सलामी दी
दिवंगत नंदकुमार के पार्थिव शरीर पर पहले भाजपा का झंडा रखा गया, फिर थोड़ी दूर पैदल चलने के बाद फूलों से सजी गाड़ी में नंदू भैया के शव को रखा गया। जहां शव पर तिरंगा झंडा भी रखा गया। पूरे शाहपुर में तीन किमी की ससम्मान अंतिम यात्रा निकालकर अंतिम संस्कार के समय शोक सलामी भी दी गई। यह अंतिम संस्कार सांसद के ही खेत में किया गया। बता दें मंगलवार को सांसद नंदकुमार सिंह चौहान का पार्थिव शरीर दिल्ली के मेदांता अस्पताल से एयर एंबुलेंस के जरिए भोपाल लाया गया, उसके बाद सड़क मार्ग से शव को गृह ग्राम बुधवार सुबह 5 बजे शाहपुर लाया गया।
पूरा बुरहानपुर रहा बंद
सांसद के शोक में पूरा बुरहानपुर जिला डूब गया। सुबह से ही व्यापारियों ने अपने प्रतिष्ठान नहीं खोले। सराफा, होटल, कपड़ा बाजार से लेकर सभी प्रतिष्ठान बंद रहे। शाहपुर क्षेत्र तो दो दिन तक बंद रह।

ranjeet pardeshi Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned