बुरहानपुर बंद, स्कूल-कॉलेज की छुट्टी, रैली निकालकर बंद कराई दुकाने

बुरहानपुर बंद, स्कूल-कॉलेज की छुट्टी, रैली निकालकर बंद कराई दुकाने

Ranjeet Kumar Pardeshi | Publish: Sep, 06 2018 06:05:49 PM (IST) Burhanpur, Madhya Pradesh, India

- बोले दुकान बंद नहीं की तो तुम्हारा हमारा झगड़ा हो जाएगा

- एस्ट्रोसिटी एक्ट का विरोध
- हड़ताल
बुरहानपुर. एससीएसटी एक्ट का विरोध करने विभिन्न सामाजिक संगठन सड़कों पर उतर आए। गुजराती समाज मार्केट से बाइक रैली निकाली। रस्ते में जो दुकान खुली दिखी उसे हाथ जोड़कर बंद कराया। सबसे अधिक हड़ताल का असर स्कूलों पर दिखा, एक दिन पहले से ही छुट्टी घोषित कर दी गई। यहां तक कई रूटों की बस नहीं चल सकी। पहली बार यह भी देखने में आया कि अल्पसंख्यक क्षेत्रों का भी पूरा बाजार बंद रहा।
गुरुवार को भारत बंद के आह्वान का असर बुरहानपुर में भी देखने को मिला। गुरुवार सुबह ९ बजे गुजराती समाज मार्केट में विभिन्न समाजिक लोग एकत्रित हुए। सपाक्स संगठन भी समर्थन देते हुए शामिल हुआ। यहां से बाइक रैली शुरू होकर शिवकुमार प्रतिमा, जयस्तंभ से होते हुए शनवारा और लालबाग तक पहुंची। रास्ते में खुली शराब दुकान, होटल, पानी की गुमठियां, मॉल की दुकानों को बंद कराया। रैली में शामिल लोगों में से किसी ने चिल्लाकर दुकान बंद कराई तो किसी ने हाथ जोड़कर निवेदन किया। रैली देख कई लोगों ने स्वेच्छा से अपनी दुकाने बंद कर ली। लालबाग में राकेश चौकसे सहित उनके साथियों ने दुकाने बंद कराई। रैली से गहमागहमी का माहौल पूरे शहर में बना रहा। हालांकि कई जगह रैली आगे निकलने के बाद लोगों ने दुकाने खोल ली। सिंधीबस्ती चौराहे की शराब दुकान बंद कराने के बाद रैली निकलते ही खुल गई।
यह है हड़ताल का कारण
सामान्य पिछड़ा एवं अल्पसंख्यक वर्ग अधिकारी कर्मचारी संघ (सपाक्स) संगठन के अध्यक्ष जितेंद्र यादव ने कहा कि एक्ट्रो सिटी एक्ट का सरकार ने जो नया अध्यादेश लाया है सुप्रीम कोर्ट के आदेश को अमान्य करते हुए। कोर्ट ने आदेश दिया था कि कसी के साथ अन्याय होता है तो उसकी जांच की जाए वास्तव में अन्याय हुआ है तो उसके विरुद्ध एफआईआर होना चाहिए ये कोर्ट का निर्णय है। लेकिन सरकार ने एससीएसटी वोटों के खातिर अपने अधिकारों को दुरुपयोग किया यह किया की अध्यादेश लाया कि कोई एससीएसटी का हमारा भाई कोई शिकायत करता हैं, तो बिना जांचे पहले उसे गिरफ्तार किया जाएगा, जेल भेजा जाएगा। उसे अग्रिम जमानत भी नहीं मिलेगी। आने वाले समाज को तोड़कर रख देगा भारत को तोड़कर रख देगा। संतोषसिंह दीक्षित ने कहा एससीएसटी लोगों का हम कोई विरोध नहीं कर रहे हें। इन्हें पूरा हक मिले इसमें कोई दो राय नहीं है। हम भी सहमत है। समाज के हर तपके को आर्थिक आधार पर लाभ मिलना चाहिए। रैली में देवेंद्र ठाकुर, संतोष सिंह दीक्षित, आरपी श्रीवास्तव, आनंद दीक्षित, मनोज अगनानी, अकरम पठान, अरविंद ठाकुर सहित बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned