बुरहानपुर के 5 हजार घरों में बैठेंगी मिट्टी की गणेश प्रतिमाएं

- पर्यावरण के प्रति बढ़ी जागरुकता

By: Amiruddin Ahmad

Published: 10 Sep 2021, 12:17 AM IST

बुरहानपुर. शहर में पर्यावरण संरक्षण के प्रति जागरुकता बढ़ी है। गणेश उत्सव पर जहां पीओपी की प्रतिमाओं की स्थापना की जाती थी, लेकिन अब लोग जागरुकता का परिचय देकर मिट्टी की प्रतिमाएं स्थापित कर घरों में ही विसर्जन करने लगे हैं। 2009 में 25 मिट्टी से गणेश प्रतिमाएं बैठाकर शुरू किया गया यह अभियान आज 5 हजार घरों तक पहुंच गया है।
गायत्री परिवार द्वारा इको फ्रेंडली प्रतिमाओं की स्थापना को लेकर शहर में लगातार जनजागरुकता अभियान को आगे बढ़ाया जा रहा है। इस बार भी गायत्री शक्तिपीठ में मिट्टी की गणेश प्रतिमाएं बनाकर लेागों को उपलब्ध कराई जा रही है।गायत्री परिवार के बसंत मोंढे ने बताया कि इस बार 5 हजार से अधिक मिट्टी की प्रतिमाएं घरो में स्थापना करने का लक्ष्य रखा गया है। घर-घर विसर्जन अभियान के तहत मिट्टी की गणेश प्रतिमाएं गमलों में ही विसर्जन करने के लिए अभियान चला रहे है।ताप्ती, नर्मदा नदी के पानी में गंगाजल मिलाकर 100 एमएल पानी की बोतल दी जा रही है। गमलों में लगाने के लिए पौधें भी वितरण किए जा रहे है।
मुंबइ, इंदौर तक बढ़ी प्रतिमाओं की मांग
मिट्टी की गणेश प्रतिमाओं की मांग बुरहानपुर के साथ ही मुंबई, इंदौर, पूणे, जलंगाव और महाराष्ट्र में बढ़ रही है।11 सालों के अंदर बुरहानपुर में भी इको फ्रेंडली प्रतिमाओं की स्थापना कर रहे है।क्योकि प्लास्टर ऑफ पेरिस एक रसायन है, जिससे निर्मित प्रतिमाओं से जल दूषित जाता है। घर पर मिट्टी से बनी और प्राकृतिक रंगों से रंगी देव प्रतिमाओं की स्थापना करनी चाहिए।

Show More
Amiruddin Ahmad
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned