गुलाब का फूल देकर कांग्रेस ने की गांधीगिरी, तब जाकर बंद हुई बाजार की दुकानें

- मिलाजुला रहा बंद का असर

By: Amiruddin Ahmad

Published: 21 Feb 2021, 12:38 AM IST

बुरहानपुर. कांग्रेस द्वारा मंहगाई के विरोध में किया गया बुरहानपुर बंद का असर मिलाजुला दिखाई दिया। सुबह बाजार में दुकानें खुली तो कांग्रेसियों ने गुलाब का फूल देकर गांधीगिरी की। तब जाकर दुकानदारों ने अपनी दुकानें बंद की। सब्जी मंडी और बस स्टैंड क्षेत्र में कांग्रेसियों के जाते ही बाजार की खुलनें खुलना शुरू हो गई। मुख्य बाजार में दोपहर 12 बजे तक दुकानों के शटर नहीं खुले। कांग्रेस का बंद असर मिलाजुला दिखाई दिया।
शनिवार सुबह ९ बजे कांग्रेसी इकबाल चौक पर जमा हुए। बाजार में खुली दुकानों को बंद कराने के लिए कांग्रेस कार्यकर्ता निकले तो खुली दुकानों के शटर गिरना शुरू हो गए थे। सुबह से लेकर दोपहर तक शहर के प्रमुख बाजारों की दुकानों के ताले नहीं खुले। चौराहों पर सन्नाटा पसरा होने से सुरक्षा की दृष्टि से बाजार और चौराहों पर पुलिस बल तैनात रहा। कांग्रेस द्वारा मंहगाई के विरोध में दोपहर 12:30 बजे गांधी चौक पहुंच कर महात्मा गांधी के नाम ज्ञापन प्रतिमा के पास ही रखकर सरकार और मंहगाई के विरोध में नारेबाजी की गई।
सब्जी बाजार में बंद कराई दुकानें
सब्जी मंडी आम दिनों की तरह खुली। बंद कराने आए कांग्रेसियों को देखकर दुकानदार अपनी.अपनी दुकानें बंद करने लगे। कांग्रेस जिलाध्यक्ष अजय सिंह रघुवंशी ने कहा कि मंहगाई से जनता परेशान है, क्या आप को १०० रुपए लीटर पेट्रोल खरीदना अच्छा लग रहा है। मंहगाई के खिलाफ बंद में साथ नहीं देेंगे मंहगाई ओर बढ़ेगी। सब्जी मंडी की दुकानें बंद कराने के बाद कांग्रेस बाहर निकले ही थे कि फिर से दुकानें खुलना शुरू हो गई। बस स्टैंड क्षेत्र में भी होटल और अन्य दुकानें खुली मिलने पर कांग्रेसियों ने गुलाब और हाथ जोड़कर बंद कराया।
महात्मा गांधी के नाम ज्ञापन
कांग्रेस ने मंहगाई के विरोध में महात्मा गांधी के नाम ज्ञापन दिया। जिलाध्यक्ष अजयसिंह रघुवंशी ने कहा कि मंहागाई के विरोध में शासन और राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन देने के बाद भी कुछ नहीं हुआ। इस लिए मजबूर होकर अपना आजादी दिलाने वाले महात्मा गांधी को ही ज्ञापन देना पड़ रहा है। क्योकि भाजपा सरकार फिर से देश को गुलाब बनाने का प्रयास कर रही है। गुजरात के दो व्यापारी ने राजनीति में आकर देश पर कब्जा कर बैठे। देश की अमूल्य धरोहरों को बेचा जा रहा है। इस दौरान ग्रामीण जिलाध्यक्ष किशोर महाजन,उपाध्यक्ष रफीक मोहममद, अजय उदासीन, प्रवक्ता फहीम हाश्मी, दगडू चौकसे, उपाध्यक्ष वाजिद इकबाल, सचिव उबेद शेख, कोषाध्यक्ष श्याम बन्नातवाला, पूर्व पार्षद जलील खान सहित अन्य मौजूद थे।

Congress
Amiruddin Ahmad
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned