दूसरी शादी रचा रहा दूल्हे को थाने में लाई पुलिस, पत्नी बोली नहीं दिया तलाक

- पुलिस बोली मामला मुस्लिम लॉ का
- दो घंटे थाने में दोनों पक्षों के बीच चली बहस

By: ranjeet pardeshi

Published: 20 Jan 2018, 09:54 PM IST

बुरहानपुर. दूसरी शादी कर रहे दूल्हे को पकडऩे के लिए जब पुलिस उसके घर पहुंची तो सभी दंग रह गए। बाद में पता चला की पहली पत्नी ने इसकी शिकायत की है कि मुझे छोड़कर दूसरा निकाह कर रहा है। जब पुलिस दूल्हे को लेकर कोतवाली थाने पहुंची तो यहां दूल्हे की पहली पत्नी से खूब बहस हुई। आखिरकार पुलिस ने कहा कि मामला मुस्लिम लॉ का है इसलिए पत्नी कोर्ट से स्टे ले आए तो हम यह शादी रुकवा देंगे। बाद में दोनों को समझाइश देकर रवाना कर दिया।
मोहम्मद आदिल निवासी इतवारा और डॉ. हमीदा खातुन बैरी मैदान का निकाह २०१० में हुआ था। निकाह के दो साल बाद उन्हें बेटी हुई थी, जिसकी मौत १० दिन बाद ही हो गई थी। डॉ. हमीदा ने बताया कि शादी के बाद पति व परिवार उसे परेशान कर रहा था। २०१६ में मामला कोर्ट में पहुंचा। यहां जुलाई २०१७ में दो हजार रुपए भरण पोषण राशि देने का निर्णय हुआ था। लेकिन एक बार रुपए देने के बाद दोबारा रुपए नहीं दिए। अब आदिल बिना मुझे बताए ही दूसरी शादी कर रहा है। उसने मुझे शरीयत के अनुसार तलाक नहीं दिया है।
कोर्ट में पेश किया है तलाक नामा
आदिल ने बताया कि पत्नी उनके साथ रहना नहीं चाहती थी। वह अपने मायके चली गई थी। बुलाने व समझाने पर भी वह जब नहीं आई, तो मामला कोर्ट में पहुंचा था। कोर्ट में उन्होंने तलाक नामा पेश किया है। जिसकी कॉपी पुलिस को भी दे दी है। मैं दूसरी शादी कर रहा हूं, जो कानून के अनुसार सहीं है। मेरी पहली पत्नी अब जानबुझकर यह सब कर रही है, ताकि मैं शादी न कर सकु। आदिल का विवाह शनिवार शाम को इतवारा की मस्जिद में था।
पत्नी बोली लव मैरीज, पति ने किया इंकार
थाने पहुंची डॉ. हमीदा ने बताया कि आदिल से उसकी लव मैरीज हुई थी। दोनों कॉलेज में साथ पढ़ते थे और वहीं से एक-दूसरे को पसंद करने लगे। जिसके बाद हमारा निकाह हो गया। लेकिन आदिल ने लव मैरीज से साफ इंकार कर दिया। उसने बताया कि वह निजी डॉक्टर के क्लिनीक में काम करता है। डॉ. हमीदा वहां आती थी, लेकिन शादी परिवार वालों की सहमती से हुई थी। दोनों को समझाइश देकर पुलिस ने रवाना कर दिया था।

महिला की शिकायत पर हम दूल्हे को लेकर आए थे। दोनों पक्षों ने दस्तावेज प्रस्तुत किए। मामला कोर्ट में भी चल रहा है। हमने महिला को कोर्ट से स्टे लेकर आने के लिए कहा था, लेकिन वह नहीं लेकर आई। मुस्लिम लॉ के अनुसार पुरुष दूसरा निकाह कर सकता है।
- लखनलाल बघेल, थाना प्रभारी, कोतवाली

ranjeet pardeshi Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned