भर्ती नहीं किया तो सड़क पर बैठा युवक, अस्पताल में मचाया हंगामा

युवक की गांधीगिरी108 एंबुलेंस भी समय पर नहीं पहुंची इस दौरान अन्य आक्रोशित लोगों ने हंगामा शुरू कर अस्पताल का घेराव किया

By: Editorial Khandwa

Published: 02 Feb 2016, 11:39 PM IST

शाहपुर.  घायल युवक का इलाज ठीक से नहीं होने पर एक युवक ने गांधीगिरी दिखा दी। परेशान युवक सड़क पर जाकर बैठ गया। शाहपुर पुलिस के मौके पर पहुंचने के बाद युवक को अस्पताल लाया गया। इस दौरान अन्य आक्रोशित लोगों ने हंगामा शुरू कर अस्पताल का घेराव किया।
      मंगलवार को जामठी निवासी युवक गोंड्या पिता नाना व दिनेश पिता दलसिंह पारिवारिक विवाद के चलते ग्राम चिडिय़ापानी मे बुरी तरह घायल हो गए थे। जो इलाज के लिए घायल अवस्था में ही शाहपुर अस्पताल पहुंचे।
प्राथमिक उपचार कर छोड़ा
गोंड्या और दिनेश का सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में केवल प्राथमिक उपचार ही किया गया। अस्पताल प्रबंधन ने घायल को भर्ती करना भी उचित नहीं समझा। जिससे नाराज युवक  अस्पताल के बाहर सड़क पर जा बैठे रहे। अस्पताल में रैफ र करने के लिए 108   एंबुलेंस लंबे समय बाद भी नहीं पहुंची तो स्थानीय युवकों ने अस्पताल प्रबंध का घेराव कर जमकर विरोध प्रदर्शन किया। अस्पताल प्रबंधन के विरोध में जमकर नारेबाजी की। मामला इतना बढ़ा कि पुलिस को हस्तक्षेप करना पड़ा। तब जाकर मामला शांत कराया गया ।
50 से अधिक गांव सामुदायिक केंद्र पर निर्भर
शाहपुर अस्पताल से ग्रामीण अंचलों के 50 से अधिक गांव निर्भर है। दुर्घटना जैसी आपातकालीन स्थितियों में इलाज को लेकर ग्रामीणों के इस अस्पताल से उम्मीदें रहती है। लेकिन ग्रामीणों को यहंा इलाज के नाम पर मात्र मलहम पट्टी कर दिया जाता है। ज्यादा कुछ हुआ तो मरीज को रेफर कर दिया जाता है। हाल ही में  ढाई करोड़ की लागत से नव निर्मित अस्पताल भवन डॉक्टरों के अभाव में मात्र एक औपचारिकता  बनके रह गया है।
- घायल का प्राथमिक उपचार किया गया था। मरीज खुद ही सड़क पर चला गया, जबकी 108   एंबुलेंस को सूचना दी गई थी।
कैलाश खैरनार, ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर
Editorial Khandwa
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned