protest - चालकों को नहीं मिला वेतन, थम गए कचरा वाहनों के पहिए, शहर में फैल रही गंदगी

95 प्रतिशत वाहनों से उठता है कचरा
40 गाडिय़ों पर 45 कर्मचारी करते हैं काम

By: tarunendra chauhan

Published: 18 Sep 2020, 12:23 PM IST

बुरहानपुर. शहर को स्वच्छता सर्वेक्षण में दूसरा स्थान दिलाने में अहम भूमिका निभाने वाले डोर-टू-डोर वाहन चालक 2 माह से वेतन नहीं मिलने के कारण हड़ताल पर हैं। 2 दिनों से शहर का 50 प्रतिशत कचरा घरों से नहीं उठने से अब सड़कों पर गंदगी पसर रही है। कचरा वाहनों से ही निगम का 95 प्रतिशत कचरा ट्रेचिंग ग्राउंड पर एकत्रित होता है। ठेकेदार द्वारा 2 माह का वेतन नहीं दिए जाने की शिकायत लेकर कर्मचारी कलेक्टोरेट पहुंचे।

वेतन की समस्या को लेकर एक साल में तीसरी बार वाहन चालक हड़ताल पर गए हंै। निगम परिसर से वाहन नहीं चलने के कारण हाथ गाडिय़ों से कचरा एकत्र किया गया। निगम के कचरा वाहन चलाने वाले सभी चालक ठेका श्रमिक हैं। उन्हें ठेकेदार से जुलाई और अगस्त का वेतन नहीं मिला है। गुरुवार को सभी चालक अपनी शिकायत लेकर कलेक्टर कार्यालय पहुंचे। कलेक्टर प्रवीण सिंह से कर्मचरियों को जल्द वेतन दिलाने का आश्वासन दिया। वाहन चालक निलेश सारवान ने बताया हम घर-घर जाकर कचरा एकत्र करते हैं। वेतन जारी करने में ठेकेदार हमेशा समय लगाता है। दो-दो महीने बाद वेतन दिया जाता है। एक साल में तीसरी बार हड़ताल करना पड़ी। ठेकेदार को समस्या बताने पर एक माह का वेतन देकर कार्य पर लौटने की बात कही जा रही है।

कलेक्टर रेट से नहीं मिल रहा वेतन, पीएफ भी गायब
कर्मचारियों ने कहा कि हमें कलेक्टर रेट के अनुसार वेतन भी नहीं मिल रहा है, पीएफ की राशि भी 5 माह से कटौती नहीं हो रही है। मासिक वेतन 6400 रुपए दिया जाता है। ठेकेदार को वेेतन संबंधी शिकायत करने पर वह काम से हटाकर अन्य कर्मचारी को रखने और वाहनों की चाबियां जमा नहीं करने पर एफआइआर करने की धमकी देते हैं। कचरा वाहन चालकों को भी दैनिक वेतन भोगी के रूप में प्रतिमाह समय पर निगम द्वारा ही वेतन जारी कर पीएफ की राशि भी कटौती होना चाहिए। इस दौरान विकास इंगले, सतीश तायडे, विजय जगोर सहित अन्य वाहन चालक मौजूद थे।

- शासन से फंड कम मिल रहा है, इसलिए वेतन संबंधी परेशानी आ रही है, अन्य मद से एक दो दिन में राशि जारी कर देंगे।
भगवानदास भुमरकर, आयुक्त नगर निगम

Show More
tarunendra chauhan Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned