40 साल पहले बिछड़े परिवार से मिलेगा बुजुर्ग, उड़ीसा से कल रात आएगा भाई

- बुरहानपुर के कपड़ा व्यापारी ने कराया परिवार का आने जाने का टिकट

By: ranjeet pardeshi

Published: 12 Jul 2021, 11:18 AM IST

बुरहानपुर. चालीस साल पहले बिछड़े बुजुर्ग अपने परिवार से मिलने जा रहा है। रोटी बैंक की माध्यम से बुजुर्ग को अपना परिवार वापस मिलने जा रहा है। प्रशासन के सहयोग से और शहर के कपड़ा व्यापारी के प्रयास से परिवार की तलाश हो सकी। बुजुर्ग उड़ीसा का रहने वाला है, 40 साल पहले मुंबई में कंस्ट्रक्शन का काम के लिए ठेकेदार इन्हें ले गया था।
रोटी बैंक के मैनेजर संजय शिंदे ने बताया कि जब ठेकेदार ने वापस इन्हें उड़ीसा के लिए ट्रेन में बैठाया तो भुसावल आए तो यात्रियों से पूछा बेरामपुर कब आएगा तो यात्रियों ने उन्हें अगले स्टेशन बुरहानपुर में उतार दिया था। जब इनके पास टिकट भी नहीं था तो रेलवे पुलिस ने इन्हें दो दिन के लिए जेल में बंद कर छोड़ दिया था। उस समय इन्होंने बहुत प्रयास किए परिवार से मिलने के लिए, लेकिन इनकी उड़ीसा भाषा यहां कोई समझ नहीं सका। धीरे धीरे वे यहीं पर रह गए। इनका नाम है सिमांचल भरत महापात्र भुवनेेश्वर के पास छोटे से टिकरपाड़ा कस्बे मे रहने वाला है।
फुटपाथ पर काटे दिन
शुरुआती दौर में बुजुर्ग ने होटल में नौकरी की, कही चौकीदारी की। लेकिन अब समय के साथ शरीर ने काम करना छोड़ा तो अब फुटपाथ पर ही दिन कट रहे हैं। रोटी बैंक ने एक साल पहले इन्हें भोजन देना शुरू किया। तभी से रोटी बैंक के मैनेजर संजय शिंदे इनके संपर्क में रहे और लगातार इनके परिवार से मिलाने के लिए प्रयास करते रहे।
ऐसे जुड़ती गई कड़ी
शिंदे ने बताया कि 29 जून को कपड़ा व्यापारी ओमप्रकाश सोनी और देवकीनंदन सोनी की ओर उनकी स्वर्गीय बहन लक्ष्मीदेवी झवर निवासी कटक उड़ीसा की स्मृति में रोटी बैंक को एक दिन के भोजन खर्च की दान राशि देने पहुंचे। तब शिंदे ने उन्हें इस बुजुर्ग की पूरी कहानी सुनाई तब सुरेश सोनी ने तुरंत उनके भांजे कमल राठी जो टिकरपाड़ा से 150 किलो मीटर दूर रहते हैं और समाज सेवी भी हैं उनको यह मामला बताया राठी ने उनके जिले के पुलिस विभाग की मदद लेकर इस बुजुर्ग के भाई का घर ढूंढ निकाला। इनके परिवार का रिजर्वेशन भी कराया। 13 की रात में यह परिवार बुरहानपुर आएगा और बुजुर्ग को साथ ले जाएंगे।

ranjeet pardeshi Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned