पांच दिन से दोनों विधायकों का जयपूर में ढेरा, कांग्रेस नेता भी भोपाल डटे

- होली की रात में प्रेसवार्तालेकर दूसरे दिन भोपाल निकल गए थे विधायक सुरेंद्रसिंह
- रोज सामने आ रही उनकी नईतस्वीर

By: ranjeet pardeshi

Published: 15 Mar 2020, 12:15 PM IST

बुरहानपुर. प्रदेश में गरमाई राजनीति से बुरहानपुर के कांग्रेसी पदाधिकारी को भी चेन नहीं है। धुलेंडी के दिन पूर्वमंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया भाजपा में शामिल होने के बाद जो हड़कंप मचा था उसी दिन से बुरहानपुर और नेपानगर के विधायक सहित कईकांग्रेसी भी शहर में नहीं है। धुलेंडी के दूसरे दिन जहां विधायक सुरेंद्रसिंह और सुमित्रा कास्डेकर जयपूर में पहुंच गए, तो कांग्रेसी नेता भोपाल में ढेरा जमाए बैठे है। विधायक के जाने के बाद से इनके निवास पर भी सन्नाटा पसर गया।
बुरहानपुर के निर्दलीय विधायक सुरेंद्रसिंह और नेपानगर विधायक सुमित्रा कास्डेकर धुलेंडी के दिन से अपने विधानसभा क्षेत्र में नहीं है। प्रदेश में मची राजनीतिक हलचल के बाद दोनों को ताबड़तोड़ भोपाल बुलाया गया था, जहां से जयपुर भेज दिया गया। लेकिन इनके जाने के बाद इनके निवास पर लगने वाली भीड़ अब नजर नहीं आ रही है। इनके निवास के बार सन्नाटा पसर गया। यहां तक कांग्रेस अध्यक्ष अजय रघुवंशी ाी अपने साथियों के साथ धुलेंडी के दिन से भोपाल में डेरा डाले हुए हैं। रघुवंशी के निवास पर भी लगने वाली भीड़ अब नजर नहीं आ रही है। इनके निवास के बाहर सन्नाटा दिख रहा है।
सरकार रही तो शेरा का बढ़ेगा कद
ज्योतिरादित्य सिंधिया के खासे करीबी रहे निर्दलीय विधायक सुरेंद्रसिंह ने उनका साथ न देते हुए कांग्रेस सरकार के साथ खड़े हो गए। ऐसे में कांग्रेस सरकार बनी रही तो सुरेंद्रसिंह उर्फ शेरा का कद बढ़ सकता है। वे लगातार मंत्री पद की मांग करते रहे, लेकिन उन्हें केवल आश्वासन पर रखा गया। अब सरकार के साथ खड़े रहने से उन्हें मंत्री पद मिलने के भी आसार बढ़ गए।
रंगपंचमी पर भी जयपूर में रहे विधायक
रंगपंचमी के दिन भी सुरेंद्रसिंह जयपूर में रहे, उनकी तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हुई। वे लगातार कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के साथ है। इनके साथ कांग्रेस के विधायक भी है।

BJP Congress
ranjeet pardeshi Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned