गुजरात जाकर छुपा था दुष्कर्म का आरोपी, 8 माह बाद पकड़ाया

- ८ माह से फरार स्थाई वारंटी पकड़ा

By: ranjeet pardeshi

Published: 20 Jul 2018, 12:10 PM IST

दोपहर बाद न्यायालय पेश कर भेजा जेल
नेपानगर. नेपा पुलिस ने बुधवारा शाम को बीते ८ माह से फरार स्थाई वारंटी को पकड़ा है। आरोपी के खिलाफ धारा ३६६, ३६३, ३७६ के साथ पास्को एक्ट के जैसी गंभीर धाराओं के तहत मामला दर्ज था। गुरुवार दोपहर बाद उसे न्यायालय पेश किया गया, जहां से उसे जेल भेजा गया है।
टीआई डीके डंडोतिया ने बताया कि आरोपी ने ग्राम की ही १७ वर्षीय बालिका के साथ दुष्कर्म किया था। घटना १२ नवंबर २०१७ की है। जब सूने मार्ग पर आरोपी ने नाबालिग बालिका को बहला-फुसला कर गांव से बाहर ले गया। फिर वहां उसके साथ दुष्कर्म किया। घटना से आहत हुई बालिका ने घर आकर परिजनों को घटना की जानकारी दी। जिसके बाद उन्होंने नावरा चौके के माध्यम से पुलिस को शिकायत की। घटना के बाद से ही फरार आरोपी की तलाश जारी थी लेकिन वो गुजरात में छुपा था। जिसे हिरासत में लेकर जेल भेजा गया।
१ हजार का रखा था ईनाम
टीआई डंडोतिया ने बताया कि २८ वर्षीय आरोपी सुखराम पिता सुभाष निवासी झोलपुरा पर नाबालिग के साथ दुष्कर्म का आरोप है। घटना के बाद से वो फरार था। आरोपी पर एसपी पंकज श्रीवास्तव ने १ हजार रुपए का ईनाम घोषित कर रखा था। इस दौरान मुखबीर की सूचना मिली कि आरोपी गुजरात के हालोल गांव में छुपा हुआ है। सूचना मिलते ही एसपी श्रीवास्तव एवं एसडीओपी करणङ्क्षसह रावत के मार्गदर्शन में टीम का गठन किया गया। बुधवार सुबह टीम नगर से रवाना हुई। देर शाम को आरोपी को हालोल गांव से ही पकड़ा गया। जिसके बाद उसे नेपा थाने लाया गया। कार्रवाई में टीआई सहित एएसआई आरसी सावले, आरक्षक दुष्यंत सोलंकी और मनोज यादव सहित अन्य शामिल थे।

 

 

 

 

नेपा पुलिस ने बुधवारा शाम को बीते ८ माह से फरार स्थाई वारंटी को पकड़ा है। आरोपी के खिलाफ धारा ३६६, ३६३, ३७६ के साथ पास्को एक्ट के जैसी गंभीर धाराओं के तहत मामला दर्ज था। गुरुवार दोपहर बाद उसे न्यायालय पेश किया गया, जहां से उसे जेल भेजा गया है।
टीआई डीके डंडोतिया ने बताया कि आरोपी ने ग्राम की ही १७ वर्षीय बालिका के साथ दुष्कर्म किया था। घटना १२ नवंबर २०१७ की है। जब सूने मार्ग पर आरोपी ने नाबालिग बालिका को बहला-फुसला कर गांव से बाहर ले गया। फिर वहां उसके साथ दुष्कर्म किया। घटना से आहत हुई बालिका ने घर आकर परिजनों को घटना की जानकारी दी। जिसके बाद उन्होंने नावरा चौके के माध्यम से पुलिस को शिकायत की। घटना के बाद से ही फरार आरोपी की तलाश जारी थी लेकिन वो गुजरात में छुपा था। जिसे हिरासत में लेकर जेल भेजा गया।
१ हजार का रखा था ईनाम
टीआई डंडोतिया ने बताया कि 28वर्षीय आरोपी सुखराम पिता सुभाष निवासी झोलपुरा पर नाबालिग के साथ दुष्कर्म का आरोप है। घटना के बाद से वो फरार था। आरोपी पर एसपी पंकज श्रीवास्तव ने १ हजार रुपए का ईनाम घोषित कर रखा था। इस दौरान मुखबीर की सूचना मिली कि आरोपी गुजरात के हालोल गांव में छुपा हुआ है। सूचना मिलते ही एसपी श्रीवास्तव एवं एसडीओपी करणङ्क्षसह रावत के मार्गदर्शन में टीम का गठन किया गया। बुधवार सुबह टीम नगर से रवाना हुई। देर शाम को आरोपी को हालोल गांव से ही पकड़ा गया। जिसके बाद उसे नेपा थाने लाया गया। कार्रवाई में टीआई सहित एएसआई आरसी सावले, आरक्षक दुष्यंत सोलंकी और मनोज यादव सहित अन्य शामिल थे।

ranjeet pardeshi Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned