जिले में 26 नए उद्योगों पर होगा 3268 लाख का निवेश, सीएम ई लोकार्पण करेंगे

- 241 को मिलेगा रोजगार

By: ranjeet pardeshi

Updated: 07 Apr 2021, 11:30 AM IST

बुरहानपुर. जिले में नए उद्योग रफ्तार पकडऩे वाले हैं। इससे कोरोना के बीच एक नईउ?मीद रोजगार की भी जगी है। आागामी दिनों में कुल 26 नए उद्योग शुरू होंगे, जिसमें 3268 लाख की पूंजी निवेश होगी। फिलहाल तीन उद्योग चालू होने जा रहे हैं। जिसका वर्चुअल लोकार्पण 8 अपै्रल को मुख्यमंत्री करेंगे।
मु?यमंत्री शिवराज सिंह चौहान 8 अप्रैल को भोपाल से प्रदेश में उद्योगों का लोकार्पण व भूमि पूजन करेंगे। जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र के महाप्रबंधक संतोष त्रिवेदी ने बताया 3 उद्योगों का लोकार्पण भूमि पूजन किया जा रहा है। इनमें मेसर्स संकल्प इरिगेशन, मेसर्स आरडी विंविंग मिल्स एवं महिला उघमी द्वारा संचालित मेसर्स अनिता टेक्सटाइल्स का वर्चुवल लोकार्पण होगा। मुख्य कार्यक्रम कलेक्टोरेट में होगा।
बोले 40 उद्योग शुरू भी हो चुके
उद्योग विभाग के अनुसार जिले में 40 ऐसे उद्योग हाल ही में प्रारंभ हो चुके हैं इनमें से 30 उद्योगों में उत्पादन शुरू हो चुका है। वही 05 उद्योगों में उत्पादन शुरू होने की संभावना है। जिला स्तरीय कार्यक्रम कलेक्टोरेट भवन में 8 अप्रैल को आयोजित होगा।
यहां भी शुरू होने जा रहे नए उद्योग
रेहटा.खडकोद में औद्योगिक क्षेत्र बनाया गया है। यहां स्थापित उद्योगों में मु?यत: टेक्सटाइल, ड्रीप पाइप निर्माण, मसाला निर्माण उद्योग एवं ऑईल मिल आदि प्रमुख है। इन उद्योगों में पूंजी निवेश 1137 लाख व 117 व्यक्तियों को रोजगार मिलने जा रहा है।
नवीन उद्योगों के लिये भूमि है रिजर्व:.
जिले में नवीन उद्योगो की स्थापना के लिए ग्राम रेहटा.खडकोद में भूमि आरक्षित की गई है, जिले में एक जिला.एक उत्पाद अंतर्गत केला का चयन किया गया है। केला उत्पादन में वृद्धि के लिए किसानों को आवश्यक सहयोग एवं मार्गदर्शन विभाग द्वारा किया जा रहा है। केला प्रोसेसिंग को बढ़ावा दिया जा रहा है। बुरहानपुर जिले में फिलहाल 04 स्पनिंग मिल्स व 8 0 प्रोसेसिंग की इकाईयां एवं 3000 आधुनिक किस्म के पावरलूम एवं 50,000 साधारण लूम कार्यरत है। साथ ही औद्योगिक क्षेत्रों में स्थापित औद्योगिक इकाईयों को शासन की नीति अनुसार वितीय सुविधाएं भी दी जा रही है। शासन द्वारा प्रायोजित प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम अंतर्गत जिले में युवाओं को स्वयं का उद्योग या सेवा इकाई स्थापित करने के लिए परियोजना लागत 25 लाख का बैंक ऋण व मार्जिन मनी अनुदान सहायता दी जा रही है। इस योजना अंतर्गत बैंक द्वारा वित्तीय पोषित इकाइयों को 15 प्रतिशत से लेकर 25 प्रतिशत तक पात्रतानुसार अनुदान दिया जा रहा है।

ranjeet pardeshi Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned