जेईई मेंस में बुरहानपुर के छात्रों की बड़ी सफलता

- २82 में से 175 का चयन

By: ranjeet pardeshi

Published: 01 May 2018, 12:26 PM IST

बुरहानपुर. 8, 15, 16 अप्रैल को आयोजित आईआईटी जेईई मेंस परीक्षा (जॉइंट इंटरेंस एक्सामिनेशन-2018) मेक्रो विजन के 282 में से 175 विद्यार्थियों का चयन करवाकर रिकार्ड स्थापित किया है। पूरे देष से लगभग 12 लाख विद्यार्थी परीक्षा मेंं शामिल हुऐ थे। चयनित विद्यार्थियों को एडवांस देने का मौका मिलेगा और यह परीक्षा 20, मई 2018 को होगी। मेक्रो विजन एकेडमी बुरहानपुर के 175 विद्यार्थियों के चयन ने परीक्षा जगत में हलचल मचा दी है। अपने ही स्टाफ के दम पर इतनी ज्यादा संख्या में विद्यार्थियों का चयन अद्भुुत है। बड़े से बड़े कोचिंग इंस्टीट्यूट वाले भी इसे समझ नहीं पा रहा है कि इतने विद्यार्थियों का चयन एक सीबीएसई स्कूल अपने स्टॉफ के द्वारा इतना अच्छा और अविस्मरणीय परिणाम दे सकती है।
इसमे प्रमुख चयनित विद्यार्थी जय पाटिल (आआईआर-714), पलाष गुप्ता (आआईआर-1309), संकेत सिंहा (आआईआर-45), नागेन्द्र तोमर (आआईआर-2480), शांतनु अग्रवाल (आआईआर-3561), सितांषु शुक्ला (आआईआर-4601), अनिस दुआ (आआईआर-4957), आलोक मुंशी (आआईआर-4787), श्रेयांष साहू (आआईआर-2133 ), पारस जाडिया (आआईआर-4057) आदि है।
प्राचार्य जेएस परमार ने बताया की इस रिजल्ट का श्रेय विजन की पूरी टीम को जाता है। ज्ञात रहे कि दो दिन पूर्व ही वीआईटीईईई मद्रास का परिणाम आया है जिसमें 225 विद्यार्थी चयनित हुए है तथा कलिंगा इंस्टीट्यूट ऑफ इंड्रस्टियल टेक्नोलॉजी (केआईआईटी) में 29/29 सिलेक्ट हुए है एवं आईआईआईटी हैदराबाद में 2 विद्यार्थी का चयन हुआ है। एनटीएसई के प्रथम चरण में 17 विद्यार्थियों का चयन हुआ है।
मेक्रो विजन में सीबीएसई सिलेबस के साथ-साथ प्रादेशिक एवं राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगी परिक्षाओं जैसे आईआईटी, एआईपीएमटी, वीआईटीईईई, सीए, सीपीटी, क्लेट, एनडीए, एनटीएसई, सीटीएसई, टीओईएफएल के लिए विद्यार्थियों को तैयार किया जाता है। मेक्रो विजन संचालक आनंद प्रकाष चौकसे और मंजुषा चौकसे स्कूल केम्पस में संपूर्ण हॉस्टल के बच्चों के साथ ही लोकल अभिभावक के तौर पर रहकर उनकी संपूर्ण देखभाल करते है।
मची धूम मस्ती से सजी शाम
इस खुशी के मौके पर बॉलीवुड गीत-संगीतकार दिलजान और खुबसूरत सिंगर निधि रस्तोगी ने अपनी सुंदर आवाज और फरमाइशी नगमों से मेक्रोविजऩ की शाम को हसीन बना दिया। इस अवसर पर दिलजान ने उनके खुबसूरत नगमे चि_ियां नी दर्द फिराक........, तू मेरे या ना मेरे दीदारा......, मेरे मन ये बता दे तू........, कदी आ मिल सावल यार........, आज होना दीदार माही दा........, कन्दे उत्तेया-कन्दे उत्तेया......, इश्क सूफियाना......, तेरे बिन नही लगदी दिल मेरे ढोलना.... आदि एक से बढ़कर एक गीत हिंदी, पंजाबी में प्रस्तुत किए। उन्होंने पंजाबी में धार्मिक गीतों के दो संगीत एलबम भी तैयार किए हैं। गायिका निधि रास्तोगी द्वारा लेला में लेला .....नाना ना रे ...., यमला पगला दीवाना, बोलो तारा रा रा, दो दिल मिल रहे है, मैं अगर सितारों में ...., तेरे मेरे मिलने का मौसम ...., बेबी डॉल ... आदि गीतों से मंत्र-मुग्ध कर दिया। निधि हिन्दी, पंजाबी, क्लासिकल, इंग्लिश हर प्रकार के गाने के लिए जानी जाती है। उनका एलबम ''दो दिल मिल रहे हैÓÓ काफी प्रसिद्धी प्राप्त कर चुका है आप लगभग 200 स्टेज शो कर चुकी है। आरंभ में अतिथियों का स्वागत एकेडमी के यंग ऊर्जावान डायरेक्टर कबीर चौकसे और अंतरा चौकसे ने किया एवं स्मृति चिन्ह भी प्रदान किए। एकेडमी के शिक्षक रंजीत जोशी, रोनी लौवंशी, नितिन पालीवाल, नानक फूलवानी, जयती खत्री, प्रशांत मर्चेंट और सुदाम माली, महेन्द्र मराठे ने अतिथियों के साथ पधारे अपने-अपने वाध्य यंत्र में बाशिंदों को सम्मानित किया। कार्यक्रम का संचालन विजय सुखवानी द्वारा किया गया।

ranjeet pardeshi Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned