जमीन में धंसी भंडारे की कुंडी को बाहर निकालने के लिए लिखा पत्र

- अंदेखी का शिकार हो रही कुंडिय़ां

By: Amiruddin Ahmad

Published: 05 Mar 2021, 12:00 AM IST

बुरहानपुर. प्राचीन कुंडी भंडारे की एक कुंडी जमीन में करीब 6 फीट तक धंस गई है। 8 माह से अधिक समय होने के बाद भी कुंडी को बाहर निकालने के लिए प्रयास नहीं किए जा रहे है। नगर निगम द्वारा कुंडी को बाहर निकालने के लिए राज्य पर्यटन विभाग को पत्र लिखा गया। लेकिन यहां से भी अब तक कोई जवाब नहीं मिलने के कारण जमीन में धंसी कुंडी को अंदेखा किया जा रहा है।
लालबाग कुंडी भंडारा रोड पर करीब 100 से अधिक कुंडी है। प्राचीन कुंडी के आसपास जंगली झाडिय़ां और बारिश के समय पानी जमा होने से मिट्टी का कटाव होता है।हर साल कुंडियों को नुकसान होने के बाद भी अंदेखा कर छोड़ दिया जाता है।एक कुंडी करीब 6 फीट तक धंसने से आसपास की कुंडियों को भी नुकसान होने की संभावना है। कुंडी भंडारा नगर निगम के अधीन होने से यहां पर रखरखाव और सुंदरीकरण का काम भी निगम का है, लेकिन निगम ने अब तक जमीन में धंसने वाली कुंडियों को बाहर निकालने का कोई प्रयास तक नहीं किया। अगर इसी तरह भंडारे की कुंडिय़ां जमीन में धंस जाएगी तो विश्व का एकमात्र जीवित भूमिगत जल संरचना भी बंद हो जाएगा।
पर्यटन विभाग को लिखा पत्र
निगम इंजीनियर विशाल मोहे ने कहा कि भंडारे की एक कुंडी जमीन में धंसने के बाद बाहर निकालने के लिए राज्य पर्यटन विभाग को नगर निगम की तरफ से पत्र लिखा गया है, लेकिन अब तक यहां से कोई जवाब नहीं मिला।कुंडी भंडारा राज्य पर्यटन विभाग का होने के कारण प्राचीन कुंडिय़ों के संबंध में विभाग के ही इंजीनियरों को इसकी तकनीक का ज्ञान अधिक होता है।भंडारे की कुंडियों को कोईनुकसान न हो इस लिए विभाग के जवाब का इंतजार कर रहे है। भंडारे के आसपास अन्य कुंडिय़ों को सुरक्षित किया गया है।
- जमीन में धंसी कुंडी को बाहर निकालने के लिए पर्यटन विभाग को पत्र लिखा है, लेकिन अब तक कोई जवाब नहीं मिला। कुंडियों को सुरक्षित रखने का प्रयास कर कर रहे है।
विशाल मोहे, इंजीनियर ननि बुरहानपुर

Amiruddin Ahmad
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned