लॉकडाउन : बुरहानपुर ने दिखाया संयम, बाहर नहीं निकले कदम

- जो निकले बाहर हाथ में दिए पोस्टर मैं समाज का दुश्मन तो कुछ को कराई उठक बैठक
- कोरोना पर सख्ती
- सड़कों पर पसरा सन्नाटा
- आज भी लॉक डाउन

बुरहानपुर. कोरोना महामारी को रोकने के लिए बुरहानपुर जिले में दो दिन का लॉकडाउन के आदेश हुए हैं। इसका पालन भी हुआ, शहरवासियों ने संयम दिखाया, पूरा बाजार बंद रहा। लोग दिनभर घरों में रहे। जिन्होंने धारा १४४ का उल्लंघन कर बाहर निकले उन्हें पुलिस ने हाथ में पोस्टर पकड़ाए जिस पर लिखा था मैं समाज का दुश्मन। तो कुछ युवकों को उठक बैठक करवाई। यह लॉकडाउन बुधवार को भी जारी रहेगा। आज देर शाम तक प्रशासन आगामी आदेश जारी कर सकता है।
विश्व में महामारी के रूप में फैली कोरोना वायरस की बीमारी को लेकर प्रशासन सकते में हैं। इस बीमारी को गंभरता से लेते हुए पूरा शहर दो दिन के लिए लॉकडाउन कर दिया। रविवार को जनता कफ्र्यू के बाद सोमवार को केवल जरूरी सामान के लिए बाहर निकलने की अनुमति दी, लेकिन मंगलवर बुधवार तो अब पूरी तरह सख्ती कर दी।
जिला अस्पताल में ७० फीसदी घटी ओपीडी
कोरोना को लेकर जनता कफ्र्यू, लॉकडाउन से परिवहन के साधनों पर रोक से जिला अस्पताल की ओपीडी ७० फीसदी घट गई है। शनिवार से अचानक मरीजों की कमी हो गई। एक दिन में जहां हजार मरीजों की संख्या जा रही थी, यह घटकर अब २५० तक रह गई। जिले के अन्य इलाकों से यातायात पूर्णतया बंद है। जरूरत के लोग व्यक्तिगत संसाधनों से ही अस्पताल पहुंच रहे है। चिकित्सा विभाग की टीम थर्मा मीटर से स्क्रिनिंग कर रही है।
४० क्वारेंटाइन बैड, १० आइसोलेट बैड तैयार
कोरोना वायरस से बचाव एवं रोकथाम के लिए जिला अस्पताल में १० आइसोलेशन बैड और ४० क्वारेंटाइन बैड तैयार किए है। आइसोलेशन में पॉजीटिव मरीज को रखा जाएगा, जिनका इलाज चलेगा। जबकि जो बाहर से आए यात्री, विदेशी, भिक्षुक जिनका यहां कोई नहीं है उनके कोरोना संदिग्ध पाया जाता है तो ४० क्वारेंटाइन बैड तैयार है। इसके अलावा जिला पंचायत के पड़ोस में प्रशिक्षण केंद्र को भी चिन्हित किया है, यहां भी मरीज रख सकेंगे। ज्यादा भयावह स्थिति होती हैं, तो सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर मरीज रखे जा सकेंगे। 14 दिन क्वारेंटाइन किया जाता है।
शहर में घूम रहे वाहनों को रोका
लॉक डाउन के दौरान शहर में प्रवेश करने वाले वाहनों को पुलिस ने शनवारा चौराहा और जयस्तंभ पर रोका। अस्पताल और मेडिकल के लिए निकले लोगों को ही पुलिस ने छूट दी। जबकि कई लोगों को वापस घरों के लिए रवाना कर दिया गया। ट्रक, ऑटो और कार चालकों से पुलिस ने घर से बाहर निकलने का कारण पूछा। इस दौरान कुछ लोग बिना मास्क और मुंह पर पकड़ा बांध कर निकले तो पुलिस जवानों ने फटकार लगाकर मास्क लगाने के लिए कहा गया।

ranjeet pardeshi Bureau Incharge
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned