ट्रेन में प्रसूता को उठा दर्द, जिला अस्पताल में दिया जन्म, नाम रखा लॉकडाउन यादव, बना वीआईपी मेहमान

- कलेक्टर ने वाहन उपलब्ध कराकर जच्चा बच्चा और नवजात को पहुंचाया यूपी

By: ranjeet pardeshi

Published: 23 May 2020, 04:48 PM IST

बुरहानपुर. मुंबई से यूपी जा रही ट्रेन में महिला को प्रसव पीड़ा उठने के बाद ट्रेन को बुरहानपुर में रुकवाया, जहां जीआरपी ने व्यवस्था कर महिला को जिला अस्पताल में पहुंचाया। यहां महिला ने बालक को जन्म दिया। जिसका नाम ही माता-पिता ने लॉकडाउन रख दिया। यहां तक नवजात को वापस टे्रन से ले जाने में दिक्कत होने पर कलेक्टर खुद मदद के लिए आगे आए और नवजात और उसके माता-पिता को निजी वाहन की व्यवस्था कर उनके गंतव्य की ओर भिजवाया।
उत्तरप्रदेश के अंबेडकर नगर निवासी परिवार जो कि विशेष ट्रेन से अपने मुंबई से यूपी के लिए निकले थे। प्रकृति एवं समय ने जो तय किया हैं वही होना निश्चित होता हैं। ट्रेन में रीता यादव अपने पति एवं अपने करीब रिश्तेदार के साथ सफर कर रही थी। अचानक दर्द होने पर उन्होंने रेलवे जवानों को सूचना दी एवं रेलवे द्वारा जिला प्रशासन के सामने मामले को लाया गया। जिला कलेक्टर प्रवीण सिंह के निर्देशन में प्रसूता को जिला अस्पताल में पहुंचाया कर उपचार दिया गया जहां महिला ने बालक को जन्म दिया और मौजूदा हालातों को देखते हुए माता-पिता ने उसका नाम भी लॉकडाउन यादव रख दिया।
जिला प्रशासन द्वारा उन्हें वाहन की व्यवस्था कर बच्चे के लिए कपड़े, भोजन, पेय पदार्थ व सहायता राशि के रूप में जिला कलेक्टर ने 5 हजार नगद राशि प्रदान की। जिला प्रशासन ने बच्चे के आगामी भविष्य एवं जीवन के लिए शुभकामनायें देते हुए अपने गंतव्य की ओर रवाना किया।
रीता यादव ने जिला प्रशासन, स्वास्थ विभाग, रेलवे विभाग, मिडिया एवं समस्त बुरहानपुरवासियों को तह दिल से धन्यवाद दिया, कि इस विकट परिस्थिति में आप सभी के द्वारा जो सहयोग प्रदान किया गया हैं यह अनुभव मेरे लिये अविस्मरणीय रहेगें। मैं एवं मेरा पूरा परिवार मध्यप्रदेश सरकार के आभारी रहेंगे जिन्होंने हम जैसे प्रवासी परिवारों के लिए विशेष ट्रेन एवं सुविधा मुहिया कराई हैं।

ranjeet pardeshi Bureau Incharge
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned