निसर्ग तूफान: बुरहानपुर में 24 घंटे में 50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने की संभवना

जिला कलेक्टर ने आपदा प्रबंधन के संबंध मे दिये निर्देश

By: ranjeet pardeshi

Published: 03 Jun 2020, 07:14 PM IST

 

अगले 24 घंटे में 50 किलोमीटर प्रति घंटा की गति से हवाएं चलने के आसार

लोगों से घरों में रहने की अपील

बुरहानपुर. कलेक्टर प्रवीण सिंह ने जिले के निवासियों को आगाह किया है कि मौसम विभाग द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार महाराष्ट्र एवं गुजरात की ओर टकराने वाले निसर्ग तूफान का असर ऐतिहासिक शहर बुरहानपुर जिले में भी संभावित है। इसका असर आगामी दो दिवस में भी रहना संभावित है।यहां पर आगामी 24 घंटे में 50 किलोमीटर प्रति घंटा की गति से तेज हवा चलने की संभावना है । इस दौरान आकाशीय बिजली गिरने के आसार हैंए तेज हवाओं के चलते पेड़ उखडऩे एकच्चे खपरैल के मकानों को नुकसान पहुंचनेए केले की फसल को नुकसान पहुंचने की संभावना है। अत: सभी नागरिकों से अपने.अपने घरों में रहने की अपील की गई है एवं सावधानी बरतने को कहा गया है। कलेक्टर ने ऐसी स्थिति में आकस्मिक आपदा प्रबंधन हेतु जिले के समस्त अनुविभागीय अधिकारी राजस्व, तहसीलदारों, पुलिसकर्मियों , जिला होमगार्ड कमांडेंट एवम अन्य सुरक्षा कर्मियों को भी निर्देश जारी किये है। जिला प्रशासन अपनी पूरी तैयारी के साथ है। जिससे आपात स्थिति में तुरंत आम जनता को राहत पहुंचाई जा सके।
जिला कलेक्टर ने जिले में खरीदे गए सभी अनाज को वेयर हाउस में रखने एवम तिरपाल आदि से खुले में रखें अन्न को ढकने की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिये है।

मौसम विभाग के अनुसार निसर्ग का असर बुधवार दोपहर बाद से शुरू होकर अगले 3 दिनों तक बना रहेगा। हल्की बूंदाबांदी से लेकर 10 मिमी तक बारिश हो सकती है। गुरुवार को ज्यादा बारिश की संभावना है। शुक्रवार तक चक्रवात का असर कमजोर होने लगेगा(

असर
निसर्ग के चलते बदले मौसम का सबसे ज्यादा असर देखने को मिल सकता है। बारिश के साथ तेज हवाएं चल सकती हैं। हवा की रफ्तार 50 किलोमीटर प्रति घंटे के आसपास रहने की उम्मीद है।

यह प्री-मानसून नहीं
मौसम विभाग ने स्पष्ट किया है कि निसर्ग के असर से होने वाली बारिश प्री-मानसून नहीं होगी। विभाग ने बताया कि मानसून 1 जून को केरल पहुंच गया है। अगर इसकी मौजूदा गति बरकरार रही तो मध्य प्रदेश में 20-21 जून तक मानसून (monsoon in madhya pradesh) की बारिश शुरू हो सकती है।

1 जून को मानसून ने केरल के तट पर दस्तक दी तो प्रदेश के कई हिस्सों में प्री-मानसून बारिश हुई। सोमवार रात से बारिश हुई। पूरे दिन बादल छाए रहे जिससे गर्मी से राहत मिली।

 

ranjeet pardeshi Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned