Corona time - कोरोना काल में सोशल मीडिया बना ज्ञापन देने का माध्यम

एसडीएम, तहसीलदार को किसानों ने सौंपा ज्ञापन
केला किसानों को एक लाख रुपए प्रति हेक्टेयर मुआवजा देने की मांग

By: tarunendra chauhan

Updated: 10 Jun 2020, 11:34 PM IST

बुरहानपुर. आंधी से किसानों की केला फसल जमीदोज हो गई थी, जिससे किसानों को लाखों का नुकसान हुआ है। नुकसान की भरपाई के लिए किसान शासन से मुआवजा मिलने की आस लगाए हुए हैं। नेपानगर तहसील के ग्राम रतनगढ़ और आसपास के क्षेत्रों में केले की फसल में नुकसान के बाद पटवारी एवं अन्य के माध्यम से सर्वे कर शासन एवं प्रशासन की गाइडलाइन के अनुसार एक लाख रुपए प्रति हेक्टेयर का मुआवजा किसानों को दिए जाने की मांग को लेकर राष्ट्रीय किसान मजदूर महासंघ एवं प्रगतिशील किसान संगठन ने सोशल मीडिया के माध्यम से कलेक्टर, एसडीएम और तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा।

शिवकुमार सिंह कुशवाह ने बताया कि शासन की गाइडलाइन के अनुसार किसानों को एक लाख रुपए प्रति हेक्टेयर के मान से मुआवजा राशि मिले। किसानों को शासन की योजनाओं का पूरा लाभ नहीं मिलता। नियमानुसार मुआवजा देकर न्याय होना चाहिए। राष्ट्रीय किसान मजदूर महासंघ एवं प्रगतिशील किसान संगठन किसानों को केली के नुकसान पर एक लाख प्रति हेक्टेयर के अनुसार मुआवजा देने की मांग की है।

बर्बाद हो गई थी केले की फसल
एक सप्ताह पूर्व चली आंधी से केले की फसल गिर गई थी, जिससे किसानों को भारी नुकसान हुआ था। बर्बाद हुए फसल का जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों ने निरीक्षण किया था। भाजपा जिलाध्यक्ष ने किसानों को सर्वे कराकर उचित मुआवजा राशि दिलाने का आश्वासन भी दिया था, लेकिन अब तक किसानों को मुआवजा राशि नहीं मिल पाई है। इसके चलते किसान संगठनों के पदाधिकारियों ने ज्ञापन के माध्यम से प्रशासन तक बात पहुंचा कर नुकसान की भरपाई के लिए गुहार लगाई है।

Corona virus
tarunendra chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned