प्रोफेसर के समर्थन में उतरा समाज, एफबी पर भी लोग बोले यह प्रोफेसर ऐसे नहीं

- छात्रा से छेड़छाड़ के मामले में प्रोफेसर को जेल भेजने के आदेश
- प्रोफेसर समर्थन में उतरा समाज, बोले निष्पक्ष जांच हो
- सीएसपी को सौंपा ज्ञापन

By: ranjeet pardeshi

Published: 10 Feb 2018, 12:57 PM IST

बुरहानपुर. पॉलिटेक्निक कॉलेज में छात्रा के साथ छेड़छाड़ के मामले में प्रोफेसर को जेल भेजने के आदेश न्यायालय ने दिए हैं। शाम तक यह कार्रवाई चलने से प्रोफेसर को न्यायालय की जेल में रखा। शनिवार सुबह खंडवा जेल भेजा जाएगा। इधर इस घटना के बाद प्रोफेसर के समर्थन में सकल मोड़ गुजराती समाज उतरा आया है। समाज ने मामले की निष्पक्ष जांच करने को लेकर सीएसपी को ज्ञापन दिया है।
गुरुवार को पॉलिटेक्निक कॉलेज की छात्राओं ने प्रोफेसर अनिल शाह पर छेड़छाड़ करने का आरोप लगाया था। जहां कॉलेज में करीब ५ घंटे तक हंगामा हुआ। छात्राओं के बयान लेने और विवाद के चलते शिकारपुरा पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर रात में ही प्रोफेसर शाह को गिरफ्तार कर लिया था। मामले में पुलिस ने धारा ३५४ के साथ एससी/एसटी एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज किया है।
घर पर रो रहे बच्चे, शाह ने उठाया गलत कदम, तो जिमेदार कौन
प्रोफेसर शाह के समर्थन में गुजराती समाज ने शुक्रवार को प्रशासन को ज्ञापन दिया। ज्ञापन देने पहुंची महिलाओं ने अधिकारियों से कहा कि शाह का पूरा परिवार सदमें में है। बच्चें घर पर रो रहे हैं, अगर शाह ने कोई गलत कदम उठाया, तो इसकी जिम्मेदारी कौन लेगा। समाज अध्यक्ष कमलेश शाह ने कहा कि इस मामले की निष्पक्ष जांच होना चाहिए। अनिल शाह को दुर्भावनावश फंसाने का प्रयास किया जा रहा है। जांच के बाद पूरा मामला सामने आ जाएगा। उन्होंने कहा कि यदि निष्पक्ष जांच नहीं होती है, तो पूरा समाज आंदोलन करेंगा।
सोशल मीडिया पर प्रोफेसर के समर्थन में हुए कमेंट्स
्रप्रोफेसर के समर्थन में शहर के कई लोगों ने इस पर विरोध जताकर कहा कि प्रोफेसर इस तरह की कोई हरकत नहंी कर सकते, वे एक अच्छे इनसान है। यह पोस्ट समाजसेवी दुर्गेश शर्मा ने उनके फोटो के साथ डाली तो कई लोग उनके समर्थन में आ गए। 

प्रोफेसर शाह को न्यायालय में पेश किया है। न्यायालय ने जेल वारंट बनाया है। लेकिन समय अधिक होने से उन्हें शनिवार सुबह खंडवा जेल भेजा जाएगा।
- प्रकाश वास्कले, टीआई, शिकारपुरा थाना

ranjeet pardeshi Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned