Virtual meeting - मप्र में फिर कोरोना के चलते 31 दिसंबर तक प्राइमरी व मिडिल स्कूल बंद

आपदा प्रबंधन समिति की बैठक में लिया निर्णय
कोरोना से सुरक्षा के लिए 31 तक बंद रहेंगे आठवीं तक के स्कूल

By: tarunendra chauhan

Published: 22 Nov 2020, 06:34 PM IST

बुरहानपुर. कोरोना की रोकथाम के लिए गृह विभाग भोपाल के निर्देशानुसार शनिवार को सुबह 10.30 कलेक्टर प्रवीण सिंह की अध्यक्षता में एवं पुलिस अधीक्षक राहुल कुमार लोढ़ा की उपस्थिति में आपदा प्रबंधन समिति की वर्चुअल बैठक आयोजित की गई। इसमें निर्णय लिया गया कि कक्षा पहली से आठवीं तक के स्कूल 31 दिसंबर तक बंद रखे जाएंगे।

कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर से बचने के लिए अभी से सुरक्षा के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। वर्चुअल बैठक में कई महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया, इसमें खासतौर पर मास्क की अनिवार्यता पर जोर दिया गया। ताकि कोरोना से सुरक्षा की जा सके। बैठक में विधायक सुरेंद्र सिंह, पूर्व मंत्री अर्चना चिटनीस, पूर्व महापौर अनिल भोसले, भाजपा जिला अध्यक्ष मनोज लघवे, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष ज्ञानेश्वर पाटिल, कांग्रेस अध्यक्ष अजय रघुवंशी और पूर्व निगम अध्यक्ष मनोज तारवाला उपस्थित रहे।

सराफा व्यापारी कोरोना संक्रमित
पिछले सप्ताहभर में सात मरीज नए कोरोना के सामने आने से नई चिंता खड़ी हो गई है। शनिवार को सराफा व्यावसायी की रिपोर्ट पॉजिटिव होने की जानकारी मिली। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार संजय नगर निवासी 59 वर्षीय व्यक्ति रूटीन जांच के लिए इंदौर गए थे, जहां जांच में उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इंदौर के निजी अस्पताल में ही उन्हें भर्ती किया गया। जहां उनकी हालात सामान्य है। फव्वारा चौक में उनकी सराफा दुकान है।

वर्चुअल बैठक में ये निर्णय लिए गए
- प्रत्येक व्यक्ति द्वारा सार्वजनिक स्थानों पर फेस मास्क का उपयोग अनिवार्य रूप से किया जाए।
- यदि वह उसका पालन नहीं करता है तो उस पर जुर्माने की कार्रवाई की जाए और और विधिवत वैधानिक कार्रवाई की जाए।
- शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में स्थानीय निकाय के माध्यम से इसका व्यापक प्रचार प्रसार किया जाए।
- जिले में कक्षा 1 से 8 वीं तक के समस्त स्कूल 31 दिसंबर तक बंद रखे जाएंगे।
- कक्षा 9वीं से 12 वीं तक के स्कूल के छात्र-छात्राएं स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा जारी दिशा-निर्देश के अनुरूप गाइडेंस के लिए स्कूल जा सकते हैं।
- प्रशासन द्वारा व्यापारी संगठनों की बैठक आयोजित कर उन्हें निर्देशित किया जाए कि उनके प्रतिष्ठानों पर आन-जाने वाले ग्राहकों को फेस मास्क एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन सुनिश्चित कराए जाए।
- जिला प्रशासन द्वारा निजी एवं शासकीय डॉक्टरों की बैठक आयोजित कर अधिक संख्या में कोरोना संक्रमण के मामले आने की स्थिति में ऑक्सीजन एवं अन्य चिकित्सा व्यवस्था उपलब्ध कराना सुनिश्चित कराया जाए।
- सार्वजनिक धार्मिक एवं विवाह कार्यक्रम व अंतिम संस्कार से संबंधित कार्यक्रम के दौरान सभी व्यक्तियों को फेस मास्क एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन सुनिश्चित किया जाए।
- ऐसे क्षेत्र जहां संक्रमण को रोकने के लिए आवश्यक प्रतीत हो वहां कंटेनमेंट जोन घोषित कर आवश्यक प्रतिबंधात्मक कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी।

Show More
tarunendra chauhan Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned