scriptRelying on the investigation of the third agency, the officers of PHE | तीसरी एजेंसी की जांच के भरोसे पीएचई के अफसर, खुद को नहीं दिख रहा यूनिट का घटिया निर्माण | Patrika News

तीसरी एजेंसी की जांच के भरोसे पीएचई के अफसर, खुद को नहीं दिख रहा यूनिट का घटिया निर्माण

अफसर बोले अभी तीसरी एजेंसी का सर्वे पूरा नहीं
- हैंडवॉश यूनिट का घटिया निर्माण मामला

बुरहानपुर

Published: November 27, 2021 11:23:34 am

बुरहानपुर. झापरपुरा में हैंडवॉश यूनिट ने मासूम की जान लेने के बाद सभी स्कूल और आंगनवाडिय़ों मे बन रहे यूनिट की जांच में अफसर लापरवाही बरत रहे हैं। पीएचई के अफसर तीसरी एजेंसी की जांच रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं। जबकि खुद को घटिया यूनिट निर्माण नजर नहीं आ रहा है। अफसरों का कहना है कि सर्वे पूरा होने के बाद आगे की कार्रवाई होगी।
हैंडवॉश यूनिट के घटिया निर्माण की पोल झापरपुरा गांव में खुलने के बाद अब सभी स्कूलों में बनने वाले यूनिटों पर भी सवाल खड़े हो गए। खकनार क्षेत्र में तो विभाग ने खुद छह यूनिट घटिया होने पर तुड़वा दिए। जबकि बालापाट में एक यूनिट अपने आप ढह गया। इससे पता चलता है कि ठेकेदारों ने किस हद तक इसके निर्माण में लापरवाही बरती।
बुरहानपुर ब्लॉक में यूनिट निर्माण देख रहे पीएचई विभाग के इंजीनियर कपील धवन का कहना है कि झापरपुरा घटना के बाद सभी ठेकेदारों को गुणवत्ता युक्त काम करने के लिए नोटिस दिए हैं। तीसरी एजेंसी को भी जिम्मेदारी दी है इंजीनियर ने कहा कि अभी सर्वे पूरा नहीं हुआ है। रिपोर्ट आने के बाद पूरी स्थिति स्पष्ट होगी।
सही तकनीक से नहीं हो रहा काम
हैंडवॉश यूनिट के निर्माण में भारी लापरवाही बरती जा रही है। खकनार क्षेत्र के इंजीनियर का कहना है कि धाबा में जो निर्माण हुआ वह सही नहीं बना और दूसरा मातापुर में भी यूनिट सही नहीं बना पाया। अफसर ने पाया कि दोनों जगह यूनिट में सपोर्ट नहीं दिया गया था।
पानी की टंकी, मोटर लगेगी
आंगनवाड़ी में रेडिमेड हैंडवॉश यूनिट लगेगी और इसके पास 500 या हजार लीटर की पानी की टंकी भी रहेगी, इसमें एक एचपी की मोटर जुड़ेगी। 17 हजार रुपए एक यूनिट की कीमत है और कुल 474 आंगनवाड़ी में यह बनना है। इस हिसाब से 80 लाख 58 हजार इसी पर खर्च होना है। जबकि प्राथमिक में 39 हजार और माध्यमिक स्कूल में 58 हजार का यूनिट बनना है। ऐसे कुल 614 स्कूलों में यह निर्माण होना है।

Relying on the investigation of the third agency, the officers of PHE do not see themselves as poor construction of the unit
Relying on the investigation of the third agency, the officers of PHE do not see themselves as poor construction of the unit

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Cash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कततत्काल पैसों की जरुरत है? तो जानिए वो 25 बैंक जो दे रहे हैं सबसे सस्ता Personal LoanNew Maruti Alto का इंटीरियर होगा बेहद ख़ास, एडवांस फीचर्स और शानदार माइलेज के साथ होगी लॉन्चVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिश्री गणेश से जुड़ा उपाय : जो बनाता है धन लाभ का योग! बस ये एक कार्य करेगा आपकी रुकावटें दूर और दिलाएगा सफलता!प्रदेश में कल से छाएगा घना कोहरा और शीतलहर-जारी हुआ येलो अलर्टइन 4 राशि की लड़कियां अपने पति की किस्मत जगाने वाली मानी जाती हैंToyoto Innova से लेकर Maruti Brezza तक, CNG अवतार में आ रही है ये 7 मशहूर गाड़ियां, जानिए कब होंगी लॉन्च

बड़ी खबरें

Assembly Election 2022: चुनाव आयोग का फैसला, रैली-रोड शो पर जारी रहेगी पाबंदीगोवा में बीजेपी को एक और झटका, पूर्व सीएम लक्ष्मीकांत पारसेकर ने भी दिया इस्तीफासुरक्षा एजेंसियों की भुज में बड़ी कार्यवाही, 18 लाख के नकली नोटों के साथ डेढ़ किलो सोने के बिस्किट किए बरामदUP Assembly Elections 2022 : टिकट कटा तो बदली निष्ठा, कोई खोल रहा अपने नेता की पोल तो कोई दे रहा मरने की धमकीपीएम मोदी ने की जिला अधिकारियों से बात, बोले- आजादी के 75 साल बाद भी कई जिले रह गए पीछे, अब हो रहा अच्छा कामCorona Update: कोरोना की बेकाबू रफ्तार के बीच राहत की खबर, हर दिन 5 हजार से अधिक मरीज हो रहे ठीकUP Election 2022 : कोविड अस्पताल के निरीक्षण के बहाने सीएम योगी ने भाजपा नेताओं को दिया जीत का मंत्रनेता प्रतिपक्ष की डीजीपी को चेतावनी, धरियावद थाने का स्टाफ नहीं हटाया तो धरने पर बैठूंगा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.